नई दिल्ली : गत चैंपियन और शीर्ष वरीय भारत की पीवी सिंधू ने पहला गेम गंवाने के बाद जोरदार वापसी की लेकिन अमेरिका की पांचवीं वरीय बेईवान झेंग के खिलाफ चैंपियनशिप अंक को जीत में नहीं बदल पाने के बाद यहां रोमांचक मुकाबले में 350000 डालर इनामी इंडिया ओपन 2018 बीडब्ल्यूएफ सुपर 500 बैडमिंटन टूर्नामेंट का महिला एकल का खिताब गंवा बैठी। पहली बार सुपर सीरीज स्तर के किसी टूर्नामेंट के फाइनल में खेल रही दुनिया की 11वें नंबर की खिलाड़ी बेईवान ने सिरी फोर्ट खेल परिसर में सिंधू को 69 मिनट चले मुकाबले में 21-18 11-21 22-20 से हराकर पहली बार खिताब अपने नाम किया।

सिंधू इसके साथ लगातार दूसरी बार इंडिया ओपन का खिताब जीतने से चूक गई। इससे पहले सुपर सीरीज स्तर के टूर्नामेंट में बेईवान का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 2016 में था जब वह फ्रेंच ओपन के सेमीफाइनल में पहुंची थी। बेईवान और सिंधू के बीच अब तक खेले गए चारों मुकाबलों के नतीजे तीन गेम में निकले हैं जिसमें से भारतीय खिलाड़ी ने दो में जीत दर्ज की जबकि दो में उसे हार का सामना करना पड़ा। बेईवान को इस जीत से 26250 डालर की इनामी राशि मिली जबकि सिंधू को 13300 डालर मिले।

दोनों खिलाड़ियों के खेल में आज अधिक अंतर नहीं था लेकिन बेईवान अपने सटीक स्मैश और कोर्ट कवरेज की बदौलत बेहतर स्थिति में दिखी। उन्होंने नेट पर आकर भी कुछ अच्छे शाट लगाए। उन्हें दो बार नेट पर शाट मारकर बेईवान को 3-0 की बढ़त बनाने का मौका दिया लेकिन वापसी करते हुए स्कोर 3-3 कर दिया।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।