श्रीकांत को हराकर प्रणय बने नये राष्ट्रीय चैम्पियन


shri kant

नागपुर : एच एस प्रणय ने आज यहां 82वीं सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी और खिताब के प्रबल दावेदार किदाम्बी श्रीकांत को रोमांचक फाइनल में हराकर पुरूष एकल खिताब अपने नाम किया। दूसरे वरीय प्रणय ने पिछले हफ्ते विश्व रैंकिंग में अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ स्थान हासिल किया था।

उन्होंने शीर्ष वरीय श्रीकांत को 49 मिनट तक चले मुकाबले में 21-15, 16-21, 21-7 से शिकस्त दी। वह पिछले महीने फ्रेंच ओपन सुपर सीरीज में अपने इस हमवतन खिलाड़ी से सेमीफाइनल में हार गये थे। छह महीने पहले ही जोड़ी बनाने का फैसला करने वाले सत्विक साई राज आर और अश्विनी पोनप्पा ने शीर्ष वरीय और दुनिया की 1 6वें नंबर के प्रणव जेरी चोपड़ा और एन सिक्की रेड्डी को 21-9, 20-22, 21-17 से हराकर मिश्रित युगल खिताब पर कब्जा किया। श्रीकांत और प्रणय के फाइनल्स में पहुंचने से रोमांच चरम पर पहुंच गया था और मैच सभी के लिये रोमांचक साबित हुआ क्योंकि दोनों ने खूबसूरत खेल दिखाकर मैच के दौरान तेज रैलियां पेश कीं।

श्रीकांत और प्रणय अपने अंतरराष्ट्रीय करियर में चार बार एक दूसरे के खिलाफ खेल चुके हैं लेकिन पिछले तीन मौकों पर श्रीकांत जीत दर्ज करने में सफल रहे थे। प्रणय ने सिर्फ एक बार 2011 टाटा ओपन में ही श्रीकांत को हराया था। श्रीकांत अपने करियर की शानदार फार्म में हैं, उन्होंने इस सत्र में पांच फाइनल्स में प्रवेश कर चार खिताब अपनी झोली में डाले। लेकिन परिणाम आंकड़ के अनुरूप नहीं रहा जिससे प्रणय ने दिखा दिया कि इस सत्र में ली चोंग वेई और चेन लोंग पर मिली जीत कोई तुक्का नहीं थी।