भुवनेश्वर : आखिरी 15 मिनटों में किए गए दो गोल के दम पर न्यूजीलैंड ने ओडिशा हॉकी विश्व कप में खेले गए ग्रुप-ए के अपने आखिरी मैच में स्पेन को बराबरी पर रोका। कलिंगा स्टेडियम में खेला गया मैच वर्ल्ड नम्बर-9 न्यूजीलैंड और स्पेन के बीच 2-2 से ड्रॉ पर समाप्त हुआ और इसके साथ न्यूजीलैंड ने क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को और भी पक्का कर लिया है।

एल्बर्ट बेल्त्रान मीर ने स्पेन की उम्मीदों को अच्छी शुरुआत देते हुए पहले हाफ में गोल कर टीम का खाता खोला। उन्होंने नौंवे मिनट में गोल किया। इसके बाद स्पेन ने पहले क्वार्टर में न्यूजीलैंड को गोल करने का मौका नहीं दिया और अपनी बढ़त को बनाए रखा। स्पेन को क्वार्टर फाइनल में स्थान हासिल करने के लिए अधिक अंतर से जीतने की जरूरत थी और इस क्रम में आगे बढ़ते हुए उसने दूसरे क्वार्टर में भी अच्छा प्रदर्शन कर दूसरा गोल दागा।

टीम के लिए ये गोल अल्वारो इग्लेसियास ने 27वें मिनट में किया। इसके साथ ही पहले हाफ का समापन हुआ और दुनिया की आठवें नंबर की टीम स्पेन ने अपनी बढत बरकरार रखी। तीसरे क्वार्टर में इसके बाद, स्पेन ने मजबूत डिफेंस से न्यूजीलैंड को किसी भी तरह गोल करने का मौका नहीं दिया और न ही गोल पोस्ट के करीब पहुंचने दिया।

न्यूजीलैंड को आखिरकार चौथे क्वार्टर में मौका मिला और उसने हेडन फिलिप्स की ओर से किए गए गोल से अपना खाता खोला। अब उसकी कोशिश इस मैच को बराबर करने की थी ताकि वह क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की उम्मीद को मजबूत कर सके और यह मौका उसे जल्द ही मिल गया।

न्यूजीलैंड ने 56वें मिनट में मिले पेनाल्टी कॉर्नर के अवसर पर केन रसेल की ओर से किए गए गोल के दम पर स्पेन के खिलाफ स्कोर 2-2 से बराबर कर लिया और इसी के साथ ड्रॉ पर यह मैच समाप्त हो गया। ड्रॉ हुए इस मैच के कारण स्पेन की क्वार्टर फाइनल में पहुंचने की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है।