अब नजरें कांस्य पदक पर


भुवनेश्वर : रियो ओलंपिक चैम्पियन अर्जेंटीना से हाकी विश्व लीग फाइनल के सेमीफाइनल में मिली हार को निराशाजनक बताते हुए भारतीय हाकी टीम के कोच शोर्ड मारिन ने कहा कि इससे उबरकर अब टीम को पूरा फोकस कांस्य पदक के मुकाबले पर करना है। मारिन ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, मैं यह मैच दोबारा कभी नहीं देखूंगा जबकि मैं सारे मैच देखता हूं। इसका कारण यह है कि हालात अलग थे और हमारी क्षमता की यह असल परीक्षा नहीं थी। मैं अर्जेंटीना से सामान्य हालात में खेलकर देखना चाहूंगा कि हम उन्हें हरा सकते हैं या नहीं। आज हालात अलग थे और वे हमसे बेहतर थे। उन्होंने कहा कि उन्हें खिलाड़ियों का ध्यान इस हार पर से हटाकर कल होने वाले कांस्य पदक के मुकाबले पर केंद्रित करना है।

उन्होंने कहा, जीत के साथ हमें हार के बाद के हालात से भी निपटना आना चाहिये। हम ज्यादा देर तक इसे जेहन में बनाये नहीं रख सकते। हमें अगले मैच पर फोकस करना है और आज से मैं यही कहूंगा क्योंकि अभी भी हम कांस्य पदक जीत सकते हैं। मारिन ने कहा कि हार के बावजूद वह टीम के प्रदर्शन से निराश नहीं है। उन्होंने कहा, पेनल्टी कार्नर, गेंद पर नियंत्रण, सर्कल में सेंध लगाने के मामले में हम आगे थे। हमें यह नहीं भूलना चाहिये कि हमारा मुकाबला ओलंपिक चैम्पियन और दुनिया की नंबर एक टीम से था। उन्हें हमने सिर्फ एक पेनल्टी कार्नर गंवाया जो अच्छा प्रदर्शन कहा जायेगा। टूर्नामेंट के शेड्यूल को लेकर अर्जेंटीना की नाराजगी के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा, मैं उनके बारे में टिप्पणी नहीं कर सकता। यह मेरा काम नहीं है।

लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।