आईपीएल-11 में अच्छे प्रदर्शन और शीर्ष चार में जगह के बाद अहम पड़व पर आकर पटरी से उतर गयी किंग्स इलेवन पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के हाथों 10 विकेट से मिली शर्मनाक हार के लिये टीम की बल्लेबात्रों की आलोचना की है। ऑफ स्पिनर कप्तान अश्विन ने बेंगलुरू से मिली हार पर निराशा जताई और माना कि टीम के बल्लेबात्री विभाग ने बहुत निराश किया। इस हार की वजह से टीम अपने सुरक्षित तीसरे पायदान से फिसलकर सीधे पांचवें नंबर पर खिसक गयी है और अब प्लेऑफ में पहुंचने के लिये उसे अपने दोनों शेष मैच जीतना अनिवार्य हो गया है। पंजाब बुधवार को मुंबई इंडियन्स के खिलाफ खेलेगी।

पंजाब की बेंगलुरू के खिलाफ लगातार तीसरी और छह मैचों में पांचवीं हार थी। इस मैच में टीम ने सबसे खराब प्रदर्शन किया था और टीम 15.1 ओवर में 88 रन पर ऑल आउट हो गयी थी। अश्विन ने मैच के बाद कहा’ हमारी बल्लेबाजी में समस्या है। हम चैंपियन टीमों में से एक नहीं है। हम वह टीम हैं जिसने टूर्नामेंट के शुरूआती चरण में बहुत अच्छा किया।’ उन्होंने कहा’ मैं संक्षिप्त शब्दों में कहूं तो हमें लगा था कि हमारी टीम इस स्थिति में पहुंच सकती थी लेकिन इतनी बुरी स्थिति की हमने कल्पना नहीं की थी। हमें लगा था कि हम एक या दो और मैच जीतकर 14 या 16 अंक लेकर प्लेऑफ में पहुंच सकते थे।’

कप्तान अश्विन ने कहा’ इस ग्राउंड पर लक्ष्य का बचाव करना आसान नहीं था। हमने पार स्कोर से अधिक स्कोर करने की कोशिश की और इस चक्कर में जल्दी जल्दी विकेट गंवा दिये। हमने स्थिति को ठीक से नहीं पढ़।’ टीम के मध्यक्रम को लेकर उन्होंने कहा’ मैंने इससे पहले चेन्नई में खेला है जहां मुरली विजय ने लीग चरण में कोई रन नहीं बनाये लेकिन फाइनल में 95 रन बना डाले। बड़ बल्लेबाज अहम मौकों पर अच्छा करते हैं। आपको उनमें भरोसा रखने की जरूरत है।’ अश्विन ने मुंबई के वानखेड़ स्टेडियम में बुधवार को मैच में अच्छे प्रदर्शन का भरोसा जताते हुये कहा कि यहां की पिच पर काफी उछाल है और उन्हें यकीन है कि टीम के बड़ बल्लेबाज अहम मैच में अच्छा स्कोर करेंगे।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।