पोत्रो ने तोड़ा फैडरर का सपना


न्यूयार्क:अजे’टीना के जुआन मातरनि देल पोत्रो ने पांच बार के चैम्पियन रोजर फेडरर को हराकर अमेरिकी ओपन सेमीफाइनल में चिर प्रतिद्वंद्वी रफेल नडाल से भिड़ने का उनका सपना तोड़ दिया। जाइंट किलर ‘ देल पोत्रो ने फेडरर को 7-5, 3-6, 7-6, 6-4 से हराया। अब उनका सामना सेमीफाइनल में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ रफेल नडाल से होगा। तीसरी वरीयता प्राप्त फेडरर के बाहर होने से नडाल ने अपनी नंबर वन रैंकिंग सुरक्षित रखी है। उन्होंने रूस के आंद्रेइ रूबलेव को महज 97 मिनट में 61 1, 61 2, 6-2 से हराया।

नडाल 26वीं बार अमेरिकी ओपन सेमीफाइनल में खेलेंगे जबकि 24वीं वरीयता प्राप्त देल पोत्रो का यह चौथा ग्रैंडस्लैम सेमीफाइनल है। इस साल आस्ट्रेलियाई ओपन और विम्बलडन जीत चुके फेडरर की यह अप्रत्याशित हार है। उनका देल पोत्रो के खिलाफ रिकार्ड 16-5 का था। देल पोत्रो ने जीत के बाद कहा, ‘ ‘ मेरी सवऱ्सि दमदार थी। फोरहैंड पर मैने अच्छा खेल दिखाया और मैं इस जीत का हकदार था। ‘ ‘

वीनस शान से आगे बढ़ी ः सात बार की ग्रैंडस्लैम चैम्पियन वीनस विलियम्स ने अमेरिकी ओपन महिला एकल सेमीफाइनल में जगह बना ली और 1981 के बाद पहली बार अंतिम चार में सभी खिलाड़ अमेरिकी हैं वीनस की नजरें तीसरे अमेरिकी ओपन खिताब पर है जो 2000 और 2001 में जीत चुकी हैं। उनका सामना स्लोएने स्टीफेंस से होगा जबकि 20वीं वरीयता प्राप्त कोको वांडेवेगे का मुकाबला 15वीं वरीयता प्राप्त मेडिसन की से होगा।वीनस ने एस्तोनिया की केइया कानेपी को 6-3, 6-3 से हराने के बाद कहा, ‘ ‘ यह अद्भुत है।यह बहुत खास पल होगा। मुझे खुशी है कि इसमें मैं भी शामिल हूं। ‘ ‘

अमेरिकी ओपन महिला फाइनल में 2002 में आखिरी बार दोनों अमेरिकी खिलाड़ आमने सामने थी जिसमें सेरेना ने वीनस को हराया था। इस साल आस्ट्रेलियाई ओपन और विम्लबडन उपविजेता रही 37 बरस की वीनस 1994 में मातऱ्नि नवरातिलोवा के बाद किसी ग्रैडस्लैम सेमीफाइनल में पहुंची सबसे उम्रदराज खिलाड़ी हैं। अन्य मुकाबलो में वांडेवेगे ने दुनिया की नंबर एक खिलाड़ चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिसकोवा को 7-6, 6-3 से हराया।