सनसनाती गेंदों से ही होगा सामना


Ottis Gibson

सेंचुरियन: पहले टेस्ट में तेज गेंदबाजों के दबदबे के बीच भारतीय बल्लेबाजों के घुटने टेकने के बाद दक्षिण अफ्रीका अपने किले में किसी भाा प्रकार की सेंध नहीं लगने देगा और तेज गेंदबाजों के दम पर भारतीय बल्लेबाजों में खौफ पैदा करने का काम करने का ऐलान कर दिया है। सीरीज शुरू होने से पहले भी इसके बारे में आगाह किया गया था और इसकी बानगी सीरीज के पहले टेस्ट में दिख गई थी।

दक्षिण अफ्रीका ने चार तेज गेंदबाजों को पहले टेस्ट में उतार कर एक बार फिर चेतावनी जारी कर दी है कि अगले टेस्ट में भी भारतीय बल्लेबाजों पर कोई रहम नहीं दिखाया जाएगा और भारतीय बल्लेबाजों को सनसनाती गेंदों का सामना करने के लिये तैयार रहना होगा। भारत के बल्लेबाजों ने पहले टेस्ट में गेंदबाजों के अच्छे काम पर पानी फेर दिया था और केवल हार्दिक पांड्या को छोड़ कर बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद निराशा जनक रहा था। दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाजी कोच ओटिस गिब्सन ने भी भारत को चेताया है कि सेंचुरियन में चार तेज गेंदबाजों को ही मैदान पर उतारा जाएगा और और कोई अन्य तेज गेंदबाज डेल स्टेन की जगह लेगा।

पलटवार को तैयार रहेंगे भारतीय गेंदबाजः भारत के लिये थोड़ी राहत की बात होगी कि उसके तेज गेंदबाजों ने भी अच्छा प्रदर्शन किया है और मेजबान टीम के बल्लेबाजों को आसानी से रन नहीं बनाने दिये हैं। इस समय भारतीय टीम के पास तकनीकी रूप से सक्षम अंजिक्यां रहाणे भी अभी बेंच पर बैठे हैं और लोकेश राहुल को भी मौका मिलने का इंतजार है। अब देखना होगा ​कि इन दोनों में से कौन अगले टेस्ट में टीम का हिस्सा होगा या विराट कोहली अपनी पहली ही टीम पर भरोसा जताते हैं। विराट कोहली ने पिछले 33 मुकाबलों में अपनी टीम में बदलाव किया है और यह फलदायी भी रहा है।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।