Shocking! 2011 वर्ल्ड कप भारत VS श्रीलंका फाइनल फिक्स था?


श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा और अर्जुन रणतुंगा भारत के खिलाफ 2011 विश्वकप फाइनल में श्रीलंका के हार की जांच के लिए शब्दों की लड़ाई में लगे है। रणतुंगा का मानना है कि संगकारा की अगुआई में श्रीलंका की टीम ने फाइनल में औसत से नीचे ‘संदेहास्पद’ प्रदर्शन किया था। उन्होंने यह भी कहा कि वे जल्द ही इन आरोपों को साबित करेंगे।

2011 विश्व कप के फाइनल में भारतीय टीम के लिए शीर्ष स्कोरर, गौतम गंभीर, ने कहा कि मैच की जांच के लिए पूर्व श्रीलंका कप्तान की मांग “अपमानजनक” थी। उन्होंने कहा, “मैं अर्जुन रणतुंगा के आरोपों से हैरान हूं। ये अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एक बहुत ही सम्मानजनक आवाज से गंभीर टिप्पणी है। मुझे लगता है कि उन्हें इस बात को साफ करना चाहिए, उन्हें सबूतों के साथ अपने दावों को पेश करना चाहिए।”

आपको बता दें, फेसबुक पर पोस्ट की गई एक वीडियो में, 1996 के विश्व कप के विजेता कप्तान ने कहा कि वह वानखेड़े स्टेडियम में फाइनल में श्रीलंका की हार से चौंक गया था। उन्होंने कहा कि प्लेइंग इलेवन में किए गए 4 बदलाव भी संदेहास्पद थे।उन्होंने कहा, “मैं अभी सब कुछ नहीं बता सकता, लेकिन मैं ये साबित करूँगा।इस मामले की जांच होनी चाहिए।”

रणतुंगा द्वारा लगाये गए आरोपों में उन्होंने बताया ,श्रीलंका ने फाइनल के लिए टीम में चार बदलाव किए थे और पहले बल्लेबाजी करते हुए बोर्ड पर 274 रन बनाए थे। श्रीलंका ने गेंद से अच्छी शुरूआत भी की, वीरेंद्र सहवाग और सचिन तेंदुलकर को पहले ही वापस भेज दिया।हालांकि, गौतम गंभीर की एक अच्छी पारी और पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने एक मैच जीतने वाली टीम की ओर से मैच को दूर कर दिया। लेकिन ये संदेह पैदा करता है ।

आशिष नेहरा ने भी गंभीर का साथ देते हुए रणतुंगा के फिक्सिंग आरोपों को खारिज किया है । आशिष नेहरा ने कहा, “मैं इस मुद्दे पर अपने विचारों को प्रसारित करके रणतुंगा की टिप्पणी का सम्मान नहीं करना चाहता। अगर मैं श्रीलंका की 1996 विश्वकप की जीत का सवाल करता हूं, तो क्या वो संतुष्ट होंगे । उन्हें इस तरह के बेबुनियाद आरोप नहीं लगाने चाहिए  ।