नयी दिल्ली : गत चैंपियन और शीर्ष वरीय भारत की पीवी सिंधू ने आज यहां तीन गेम तक चले कड़े मुकाबले में स्पेन की बीटरिज कोरालेस को हराकर इंडिया ओपन 2018 बैडमिंटन टूर्नामेंट के महिला एकल सेमीफाइनल में जगह बनाई लेकिन साइना नेहवाल को लगातार गलतियों का खामियाजा भुगतना पड़ा और उनकी चुनौती क्वार्टर फाइनल में ही समाप्त हो गयी। यही नहीं आठवें वरीय बी साई प्रणीत, समीर वर्मा और पारूपल्ली कश्यप की हार के साथ पुरूष एकल में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई।

दुनिया की चौथे नंबर की खिलाड़ी सिंधू ने दुनिया की 36वें नंबर की खिलाड़ी स्पेन की बीटरिज कोरालेस को तीन गेम चले कड़े मुकाबले में 54 मिनट में 21-12 19-21 21-11 से हराकर अंतिम चार में जगह बनाई जहां उनका सामना तीसरी वरीय थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन से होगा। इंतानोन ने क्वार्टर फाइनल में हांगकांग की यिप पुई यिन को 21-11 21-11 से हराया। इंतानोन के खिलाफ ओलंपिक रजत पदक विजेता सिंधू का रिकार्ड खराब है और थाईलैंड की इस खिलाड़ी के खिलाफ वह छह मैचों में से दो ही जीत पाई हैं।

साइना को हालांकि अमेरिका की पांचवीं बेईवान झेंग के खिलाफ 10-21 13-21 से हार झेलनी पड़ी। सेमीफाइनल में झेंग सामना हांगकांग की दुनिया की 29वें नंबर की खिलाड़ी और छठी वरीय च्युंग एनगान यी से होगा जिन्होंने टूर्नामेंट का अब तक का सबसे बड़ा उलटफेर करते हुए ओलंपिक चैंपियन और दो बार की पूर्व विश्व चैंपियन स्पेन की कैरोलिना मारिन को बाहर का रास्ता दिखाया। हांगकांग की खिलाड़ी ने सीधे गेम में 21-12 21-19 से जीत दर्ज की।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहाँ क्लिक  करें।