नियमित कप्तान विराट कोहली की गैर मौजूदगी में शानदार प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया रविवार को यहां होने वाले तीसरे और अंतिम टी-20 मुकाबले में मेहमान और विश्व चैंपियन वेस्ट इंडीज का सफाया करने के इरादे से उतरेगी। विराट को वेस्ट इंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज से विश्राम दिया गया, इसके बावजूद रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने पहले दो मैचों में शानदार प्रदर्शन करते हुए जीत हासिल की और सीरीज 2-0 की अपराजेय बढ़त के साथ अपने नाम कर ली। अब भारतीय टीम का लक्ष्य इस स्कोर को 3-0 करना है जबकि विंडीज की टीम अपने भारत दौरे का समापन जीत के साथ कर कुछ सम्मान बचाना चाहेगी।

भारतीय टीम प्रबंधन ने तीसरे मुकाबले के लिए अपने तीन प्रमुख गेंदबाजों तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव तथा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को आराम दिया गया है। तीनों गेंदबाजों को आस्ट्रेलिया के आगामी दौरे को ध्यान में रखते हुये आराम दिया गया है ताकि वे पूरी तरह फिट रह सकें। चयनकर्ताओं ने तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कौल को आखिरी टी-20 में भारतीय टीम का हिस्सा बनाया है। बुमराह को वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले दो वनडे मैचों में भी आराम दिया गया था लेकिन वह सीरीज के आखिरी तीन मैचों में खेले थे। भारत ने वनडे सीरीज 3-1 से जीती थी।

बुमराह ने पहले दो टी-20 मैचों में तीन विकेट निकाले थे और आठ ओवरों में केवल 47 रन दिये थे। उमेश ने हालांकि पहला ही टी-20 मैच खेला था और चार ओवरों में 36 रन पर एक विकेट निकाला, वह वनडे सीरीज के शुरूआती दो मैचों में अंतिम एकादश का हिस्सा थे। कुलदीप को भी पहले वनडे में आराम दिया था लेकिन बाकी चार मैचों में वह खेले थे तथा दोनों टी-20 मैचों में भी खेले थे। कुलदीप का विंडीज के खिलाफ प्रदर्शन बेहतरीन रहा है और उन्होंने वनडे में 19.88 के औसत से नौ विकेट लिये थे जबकि दो टी-20 में पांच विकेट निकाले थे। वह कोलकाता में मैन ऑफ द मैच रहे थे।

आखिरी मैच के लिये टीम में शामिल किये गये सिद्धार्थ ने अब तक भारतीय टीम के लिये तीन वनडे और दो टी-20 मैच ही खेले हैं। वह सितंबर में भारत के लिये एशिया कप में खेले थे। टीम में सिद्धार्थ के अलावा भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद अन्य तेज गेंदबाज हैं। इसके अलावा टीम में लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल, स्पिन आलराउंडर क्रुणाल पांड्या, लेफ्ट आर्म स्पिनर शाहबाज नदीम और वाशिंगटन सुंदर अन्य स्पिनर हैं।

उम्मीद है कि लेफ्ट आर्म स्पिनर नदीम को आखिरी मैच में मौका मिल सकता है जिन्होंने घरेलू क्रिकेट में लगातार शानदार प्रदर्शन किया है और उन्हें अपने पदार्पण का इन्तजार है। नदीम ने घरेलू लिस्ट ए मैच में आठ विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड बनाया था। कप्तान रोहित शर्मा शानदार फॉर्म में हैं लेकिन शिखर धवन को एक बड़ी पारी का इन्तजार है। महेंद्र सिंह धोनी के विकल्प कहे जा रहे ऋषभ पंत अब तक दो मैचों में सस्ते में आउट हुए हैं जबकि विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने मौकों का पूरा फायदा उठाया है। क्रुणाल पांड्या ने अपनी उपयोगिता साबित की है।

कार्लोस ब्रैथवेट की कप्तानी में विंडीज ने दो मैचों में वैसा प्रदर्शन नहीं किया है जैसी विश्व चैंपियन होने के नाते उससे उम्मीद की जा रही थी। शाई होप और शिमरोन हेत्माएर ने वनडे सीरीज में शानदार बल्लेबाजी की थी लेकिन टी-20 मैचों में दोनों ही सस्ते में आउट हुए। आईपीएल में भारत में जलवा दिखाने वाले कीरोन पोलार्ड ने अब तक निराश किया है। आईपीएल के एक अन्य धुरंधर डेरेन ब्रावो भी टीम की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए हैं।

विंडीज को यदि आखिरी मैच में वापसी करनी है तो इन बल्लेबाजों को अच्छी पारियां खेलनी होंगी। भारतीय गेंदबाजों में बुमराह और कुलदीप की अनुपस्थिति का विंडीज के बल्लेबाज फायदा उठा सकते हैं। आखिरी मैच के लिए भारतीय टीम निम्न खिलाडियों में से चुनी जायेगी: रोहित शर्मा(कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक(विकेटकीपर),मनीष पांडे, श्रेयस अय्यर, रिषभ पंत, क्रुणाल पांड्या, वाशिंगटन सुंदर, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, शाहबाज नदीम, सिद्धार्थ कौल।