क्रिकेट की दुनिया का ये मशहूर खिलाड़ी जिसके पास नहीं थे ऑटो के पैसे , आज है करोड़ों का मालिक


क्रिकेट के ऐसा खेल बन गया है आज की दुनिया में जहां पर एक खिलाड़ी को नाम के साथ-साथ पैसा भी बहुत मिलता है। दुनिया क्रिकेट के खिलाडिय़ों को अपने आईडल की तरह मानना शुरू हो जाती है। भारतीय क्रिकेटरों में कई ऐसे क्रिकेटर आपको मिल जाएंगे जो की दुनिया के अमीर लोगों की लिस्ट में आते हैं। क्रिकेट के इस मुकाम पर पहुंचना किसी भी खिलाड़ी के लिए आसान बात नहीं होती है। हर खिलाड़ी इस मुकाम पर पहुंचने के लिए काफी संघर्ष करता है।

आज हम एक ऐसे ही खिलाड़ी के बारे में आपको बताने जा रहे हैं जिसने अपनी जिंदगी में काफी संघर्ष किया है। हम बात कर रहे हैं भारतीय टेस्ट टीम के खिलाड़ी अजिंक्य रहाणे की। अजिंक्य ने अपनी जिंदगी में फर्श से लेकर अर्श तक का सफर तय किया है। रहाणे आज जिस मुकाम पर हैं वहां तक पहुंचने के लिए उन्होंने काफी उतार-चढ़ाव का सामना किया है। अजिंक्य ने काफी परेशानियां देखी लेकिन उन्होंने कभी भी हार नहीं मानी और पूरी दुनिया में क्रिकेट में अपना नाम रोशन किया है।

अजिंक्य के सफर में माता-पिता ने खास भूमिका निभाई

अजिंक्या रहाणे टीम इंडिया के ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्हें आप ओपनिंग से लेकर किसी भी ऑडर पर बल्लेबाजी कर सकते हैं। टीम उन पर बिल्कुल भरोसा करते हुए उन्हें बल्लेबाजी की किसी भी ऑडर पर उतार सकती है। बता दें कि रहाणे के पिता मधुकर और माता सुजाता ने उन्हें इस मुकाम तक लाने में उनका बहुत बड़ा योगदान है।

रहाणे के पिता का कहना है कि उनकी हालात उस समय वैसी बिल्कुल नहीं थी कि वह रहाणे को प्रेक्टिस में जाने के लिए एक ऑटो भी नहीं करा पाते थे। बता दें कि रहाणे की मां सुजाता उनके छोटे भाई शशांक को अपनी गोद में दो किमी दूर प्रैक्टिस के लिए लेकर जाती थीं और वापस भी लाती थी।

मां उठाती थी किट बैग और पैदल खेलने के लिए जाते थे

जब रहाणे प्रैक्टिस करके वापस आते थे तो वह काफी थक जाते थे। रहाणे को ज्यादा थकान न हो तो मां उनकी किट को एक हाथ में उठाती थी और दूसरे हाथ में उनके भार्ई को लेती थी। रहाणे जब भी मां को ऑटो में जाने के लिए बोलते थे तो उनकी मां कोई भी बहाना बनाकर मना कर देती थी। वह इसलिए ऐसा करती थीं क्योंकि उनके पास ऑटो तक के भी पैसे नहीं होते थे।

सचिन के साथ खेलने का सपना पूरा हुआ

रहाणे के पिता ने बताया था कि जब रहाणे सात साल का था तो तब उसके पिता उसे पहली बार मैटिंग विकेट वाले कैंप में लेकर गए थे। रहाणे के पिता ने कहा कि हम इसे ज्यादा अच्छी सुविधा नहीं दे सकते थे। एक बार रहाणे से कैंप में एक तस्वीर का पूछा गया तो रहाणे ने कहा कि यह तस्वीर सचिन की है और एक दिन वह सचिन के साथ जरूर खेलेंगे।

आईपीएल ने दिलाई पहचान

2007 में अजिंक्य रहाणे ने अपना पहला फस्र्ट क्लास क्रिकेट खेला था। उसी साल रहाणे ने अपना पहला टी-20 में डेब्यू किया था। रहाणे को 2008 में आईपीएल की मुंबई इंडियन्स की टीम ने उन्हें खरीद लिया था। अजिंक्य रहाणे को 2011 में इंग्लैंण्ड दौरे में वनडे और टी-20 सीरिज में टीम इंडिया में जगह मिली थी। रहाणे ने अपने इस डेब्यू सीरिज में अपने अच्छे प्रदर्शन से सब को प्रभावित किया।

रहाणे ने साल 2013 में सचिन के साथ सचिन के आखिरी टेस्ट मैच में उनके साथ डेब्यू किया और खेलने का मौका मिला। रहाणे 2012 में आईपीएल राजस्थान रॉयल्स टीम की तरफ से खेले थे और उस आईपीएल में अपनी एक नई पहचान बनाई थी। रहाणे को पूरी दुनिया में एक बहेतरीन क्रिकेटर के तौर पर जाना जाता है। ऑस्ट्रेलिया टीम जब भारत के दौरे पर आई थी तो उस समय विराट कोहली को चोट लगी हुई थी। उस समय रहाणे ने भारत की टेस्ट टीम की कप्तानी की और भारत को उस सीरीज में जीत दिलाई थी।

रहाणे आज इतने करोड़ के मालिक हैं

बता दें कि रहाणे लगभग 6 मिलियन के मालिक हैं। मतलब 42 करोड़ रुपए की एक बीएमडब्ल्यू है और वोल्वो की कार है उनके पास। रहाणे के पास और भी महंगी कारें हैं। आपको बता दें कि रहाणे के पास घर है जिसकी कीमत लगभग 3.80 करोड़ रुपए है। रहाणे विज्ञापन से भी अच्छा पैसा कमा लेते हैं।