भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान Virat Kohli ने हाल ही में क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर का रिकॉर्ड तोड़कर सबसे तेज 10,000 हजार रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए हैं।

भारतीय टीम के इस पूर्व दिग्गज खिलाड़ी ने विराट कोहली की इस मामले में की जमकर तारीफ। हालांकि तेंदुलकर कोहली की तुलना पूर्व दिग्गज खिलाडिय़ों से करने से बचते हैं।

Virat Kohli सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक है

सचिन तेंदुलकर ने कहा, ‘‘एक खिलाड़ी के तौर पर Virat Kohli के विकास की बात करें तो मुझे लगता है कि उसने काफी तेजी से सुधार किया है। मुझे हमेशा लगता था कि उसमें अच्छा करने की ललक है और मुझे शुरू से ऐसा लगता था कि वो दुनिया के शीर्ष बल्लेबाजों में शामिल होगा। वो भी सिर्फ इस सदी के नहीं बल्कि सर्वकालिक महान खिलाड़ियों में से एक होगा।’’

Virat Kohli को सर्वकालिक महान खिलाड़ी बताने पर सचिन ने कहा, ‘‘इस पर हर किसी की अपनी सोच है। अगर किसी को तुलना करनी हो तो मैं उसमें दखल नहीं करना चाहूंगा क्योकि 60, 70 और 80 के दशक के अलग तरह के गेंदबाज थे, जब मैं खेलता था तब और आज के दौर में भी गेंदबाजी अलग-अलग तरह की हो गयी है।’’

मैं खिलाडिय़ों की तुलना करने में विश्वास नहीं रखता

सचिन तेंदुलकर डी.वाई.पाटिल स्टेडियम में मिडिलसेक्स ग्लोबल अकादमी के पहले भारतीय शिविर के आयोजन के मौके पर बोल रहे थे।

इंटरनेशनल क्रिकेट में शतकों का सैकड़ा लगाने वाले इस महान खिलाड़ी ने कहा, ‘‘पहली बात तो Virat Kohli ने जो कहा (दूसरे बल्लेबाज से तुलना करने के बारे में) और मैं भी 24 वर्षों तक खेलने के दौरान यही बाते कहता रहा हूं। मैंने कभी तुलना करने पर विश्वास नहीं किया। हर युग के साथ खेल का तरीका बदलता है। इसमें बदलाव निरंतर रहा है।’’

मास्टर ब्लास्टर ने इस मौके पर वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट करियर शुरू करने वाले युवा सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ की तारीफ करते हुए कहा कि वो तेजी से चीजों को सीख रहा है।