वाडेकर ने सामंजस्य बैठाने के लिए समय की कमी को हार के लिए जिम्मेदार ठहराया 


मुंबई : पूर्व क्रिकेटर अजित वाडेकर ने दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट श्रृंखला में शर्मनाक हार के लिए वहां भारतीय टीम के पास हालात से सामंजस्य बैठाने के लिए समय की कमी को जिम्मेदार ठहराया। सेंचुरियन में आज 135 रन की हार के साथ दक्षिण अफ्रीका ने तीन टेस्ट की श्रृंखला में 2-0 की विजयी बढ़त बनाते हुए भारत के लगातार नौ श्रृंखला जीतने के अभियान को रोका। पूर्व भारतीय कप्तान 76 साल के वाडेकर ने हालांकि विराट कोहली की कप्तानी की तारीफ की। वाडेकर ने पीटीआई से कहा, ‘‘वह (कोहली) अच्छा कप्तान है। लेकिन दक्षिण अफ्रीका में जीत दर्ज करना बेहद मुश्किल है क्योंकि विकेट काफी तेज हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमारी टीम के पास हालात (दक्षिण अफ्रीका में) से सामंजस्य बैठाने के लिए पर्याप्त समय नहीं था और शायद यही कारण (हार का) है।’’

भारतीय टीम ने केपटाउन में पहले टेस्ट से पूर्व अभ्यास मैच नहीं खेलने का फैसला किया। इस टेस्ट की दूसरी पारी में भारतीय टीम 135 रन पर ही ढेर हो गई और मैच हार गई। यहां दूसरे टेस्ट की दूसरी पारी में भी भारतीय बल्लेबाज नाकाम रहे। यह पूछने पर कि क्या विदेशी दौरों का कार्यक्रम तय करने वालों के लिए सबक सीखने की जरूरत है, वाडेकर ने कहा, ‘‘मैं उम्मीद करता हूं कि वे सबक सीखेंगे क्योंकि कभी नहीं लगता कि वे सबक सीख रहे हैं और उनके साथ यही समस्या है। क्रिकेट बोर्ड में शामिल अधिकांश लोगों ने भी बल्ला नहीं पकड़ा।’’  जोहानिसबर्ग में अगले हफ्ते होने वाले तीसरे टेस्ट के संदर्भ में वाडेकर का मानना है कि मेहमान टीम को अधिक प्रतिस्पर्धा पेश करने की जरूरत है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें प्रतिस्पर्धा देनी होगी। आम तौर पर हम समान एकादश खिलाते हैं और एक या दो बदलाव करते हैं। अब उन खिलाड़ियों को मौका देना चाहिए जो रिजर्व में शामिल हैं जिससे शीर्ष स्तर पर उनकी क्षमता देखी जा सके, यह काफी जरूरी है।’’

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।