महिला पहलवानों ने रैम्प पर बिखेरा जलवा


नई दिल्ली: फोगाट बहनों की कामयाबी से प्रभावित होकर बॉलीवुड ने दंगल फिल्म बना डाली जिसकी धुन पर आज यहां दुनियाभर के महिला और पुरुष पहलवानों ने फैशन शो में जलवे बिखेरे। पेशेवर कुश्ती लीग तीन मे भाग लेने आए विदेशी पहलवानों ने दंगल फिल्म को सराहा और साथ ही कहा कि फोगाट बहनें भाग्यशाली हैं जिन्हें फिल्म ने नई पहचान दी है। फैशन शो में यूं तो कई महिला और पुरुष पहलवानों ने अभूतपूर्व प्रदर्शन किया लेकिन अमेरिका की विश्व और ओलंपिक चैम्पियन हेलेन मोरोलिस का जलवा देखते ही बनता था। दंगल की नायिका गीता फोगाट के खाते में सिर्फ़ कामनवेल्थ का स्वर्ण है फिर भी उस पर फिल्म बनाई गई।

मोरोलिस गीता को भाग्यशाली मानती है और कुश्ती के प्रति भारतीयों के जुड़ाव को सराहती है। कारण इस खेल को उनके देश में अभी बड़ी तादात मे अपनाया नहीं गया है। वह देश की पहली ओलंपिक चैम्पियन है और मा-बाप की इच्छा के विपरीत कुश्ती में उतरी थी। 26 वर्षीय पहलवान के जीवन में ऐसे अवसर भी आए जब उसे खेल छोड़ने के लिए कहा गया।

1999 में उसे कहा गया कि चूंकि कुश्ती ओलंपिक खेल नहीं है इसलिए किसी अन्य खेल में भाग्य आज़माए। लेकिन जब दो माह बाद महिला कुश्ती को ओलंपिक में स्थान मिला तो सभी ने उसे प्रोत्साहन दिया। इस अमेरिकी चैम्पियन ने भारत में आयोजित कुश्ती लीग को जमकर सराहा साथ ही उसे फैशन शो भी खूब भाया।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यह क्लिक करें।

(राजेंद्र सजवान)