नई दिल्ली : पीडब्ल्यूएल के तीसरे संस्करण ने तमाम रिकार्ड पोंछते हुए कबड्डी लीग को भी पीछे छोड़ दिया है। इसमे दो राय नहीं कि कबड्डी की लोकप्रियता लगातार बढ़ी है पर बीएआरसी की ताज़ा रेटिंग के अनुसार कुश्ती ने कबड्डी के पांचवें सीजन से ज़्यादा दर्शकों को प्रभावित किया। टीवी पर 85 करोड़ कुश्ती प्रेमियों ने कुश्ती लीग को देखा जोकि एक रिकार्ड है। ऐसी कामयाबी शायद ही अन्य किसी खेल के हिस्से आई हो। टीवी रेटिंग के आधार पर कुश्ती को क्रिकेट के बाद दूसरे सबसे लोकप्रिय खेल का दर्जा भी मिल गया है।

कुश्ती लीग के प्रमुख कार्तिकेय शर्मा के अनुसार अब यह कहना गलत होगा कि देश में सिर्फ क्रिकेट ही लोकप्रिय है। उनके अनुसार कबड्डी, बैडमिंटन, फुटबॉल आदि लीग भी अपना अलग स्थान बना चुकी हैं। कुश्ती फेडरेशन के अध्यक्ष सांसद ब्रज भूषण ने लीग की कामयाबी को भारतीय महिला पहलवानों के शानदार प्रदर्शन के साथ जोड़ा और कहा की इस बार महिला पहलवानों ने ऐसा समां बंधा जिसकी शायद ही किसी ने कल्पना की होगी।

पूजा ढांडा ने ओलंपिक और विश्व चैम्पियनों को मसलकर दिखा दिया की भारतीय महिला कुश्ती का भविष्य उज्ज्वल है। साक्षी मलिक, विनेश फोगाट, ऋतु फोगाट आदि का प्रदर्शन भी शानदार रहा। कुश्ती लीग के पक्ष में एक बड़ी बात यह भी जाती है कि ऐसे आयोजन से देश में पहलवानी के प्रति आम भारतीय का नज़रिया बदला है।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।

(राजेंद्र सजवान)