LIVE : GST पर अरुण जेटली का भाषण


एक देश-एक कर के सपने जीएसटी को लॉन्च होने में सिर्फ कुछ ही देर बाकी है | इस ऐतिहासिक मौके पर संसद में मध्यरात्रि में स्पेशल सेशन बुलाया गया है | इस मौके पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी, उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत कई दिग्गज मौजूद है | जीएसटी लॉन्च से पहले वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भाषण  में कहा कि जीएसटी लागू होने से नई यात्रा की शुरुआत हो रही है | इस यात्रा में कई लोगों का सहयोग रहा है|

हमारा लक्ष्य एक देश, एक टैक्स का है | इस सिस्टम को पास करने में केंद्र और राज्य सरकार का सहयोग रहा है, राष्ट्र के हित में पूरा देश एक साथ आया है | सभी राज्यों ने एक साथ आकर देश के संघीय ढांचे का उदाहरण है | उन्होंने कहा कि स्टैंडिंग कमेटी के ही निर्णय का असर था कि केंद्र और राज्य एक साथ आ पाए | जिससे जीएसटी काउंसिल में सभी को मदद मिली | जेटली ने कहा कि GST के तहत सभी को लाना चाहता हैं | सभी की कोशिश रही कि हर पार्टी का इसमें योगदान हो |

प्रो. दासगुप्ता, सुशील मोदी, के.एन. मणि, डॉ. अमित मित्रा ने राज्यों में आम राय बनाने में अच्छी कोशिश की | यह प्रक्रिया 15 साल पहले ही शुरू हुई थी | वित्त मंत्री ने कहा, ”केंद्र और राज्य मिलकर आर्थिक उन्नति के लिए काम करेंगे | जीएसटी ऐसे दौर में आया जब दुनिया आर्थिक मंदी के दौर से गुजर रही है |”  अरुण जेटली बोले कि संसद ने सभी सुझावों को सर्वसम्मति से पास किया, जीएसटी काउंसिल ने 18 बार बैठक की थी | जिसमें हर निर्णय सर्वसम्मति से हुआ है, कभी भी वोट डलवाने की जरुरत नहीं पड़ी |

अभी तक 24 निर्णय हुए हैं, 1211 सामानों पर टैक्स तय हुआ है | हमारा लक्ष्य था कि आम आदमी पर ज्यादा बोझ ना पड़े और राज्य-केंद्र सरकार के राजस्व पर भी कोई प्रभाव ना पड़े | उन्होंने कहा कि आज के समय में 17 टैक्स और 23 सेस को समाप्त कर अब सिर्फ एक टैक्स जीएसटी लागू कर दिया गया है |