पाकिस्तानी फायरिंग में एक जवान शहीद, स्कूल में फंसे सभी छात्र बचाए गए


जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी थलसेना की ओर से मोर्टार के गोले बड़े पैमाने पर दागे जाने के कारण एक सरकारी हाई स्कूल के करीब 50 छात्र फंस गए हैं। यह सूचना एक अधिकारी ने दी। बहरहाल, सरकारी कर्मियों ने स्कूल से बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया है। पाकिस्तानी थलसेना ने सुबह राजौरी और पुंछ के चार सेक्टरों में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी फायरिंग में एक जवान शहीद हो गया। राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल चौधरी ने बताया,’नौशेरा सेक्टर के सेहर में सरकारी हाई स्कूल के 45-50 छात्र भारी गोलाबारी के कारण फंसे हुए थे।

‘उन्होंने कहा कि स्कूल काफी ऊंचाई पर स्थित है, जिससे छात्रों को सुरक्षित बाहर निकालने का काम काफी मुश्किल से हुआ। बहरहाल, पुलिस और अन्य कर्मियों ने नौशेरा के कडली स्थित प्राथमिक स्कूल से 12 छात्रों को बाहर निकाला है। चौधरी ने बताया कि पाकिस्तान की अंधाधुंध गोलाबारी के दौरान बुलेट प्रूफ वाहनों में छात्रों को स्कूल से बाहर निकाला गया। उन्होंने कहा, ‘सेहर स्थित हाई स्कूल से छात्रों को बाहर निकालने के लिए हमने तीन बुलेट प्रूफ गाडिय़ां भेजी गई। कल राजौरी-पुंछ इलाके में पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में नौ साल की एक बच्ची और सेना के एक जवान की मौत हो गई थी।