गुजरात के कच्छ जिले में मंगलवार सुबह एक बड़ा हादसा हो गया। कच्छ में भारतीय वायुसेना के जगुआर फाइटर एयरक्राफ्ट दुर्घटनाग्रस्त हो गया। एयरक्राफ्ट ने जामनगर से उड़ान भरी थी। हादसे में पायलट शहीद हो गया है। यह हादसा इतना भयानक हुआ कि  जगुआर फाइटर एयरक्राफ्ट के टुकड़े कई ‌हिस्सों में ‌गिरे । लेफ्टिनेंट कर्नल मनीष ओझा ने हादसे की जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्‍होंने बताया कि जगुआर एयरक्राफ्ट ने सुबह 10.30 बजे जमानगर से उड़ान भरी थी।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि विमान नियमित प्रशिक्षण मिशन पर था और वह सुबह करीब साढ़े दस बजे दुर्घटनाग्रस्त हो गया। सूत्रों ने बताया कि इस हादसे में पायलट एयर कमांडर संजय चौहान की मौत हो गई। घटना के कारण का पता लगाने के लिए वायुसेना मुख्यालय ने कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी के आदेश दिए हैं। गुजरात में एक अधिकारी ने कहा, ‘नियमित उड़ान पर निकला विमान बरेजा गांव के समीप दुर्घटनाग्रस्त हो गया।’स्थानीय लोगों ने बताया कि विमान का मलबा गांव के बाहरी इलाके में दूर दूर तक बिखर गया।

आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना का जगुआर ट्रेनर एयरक्राफ्ट 3 अक्टूबर 2016 को राजस्‍थान के पोखरण के निकट क्रैश हो गया था।  इस विमान के दोनों पायलट सुरक्षित बच गए थे। भारत ने 80 के दशक में दो स्कावड्रन जगुआर बिट्रेन से खरीदे गए थे। डबल इंजन वाले इस लड़ाकू जगुआर विमान को कुछ समय पहले अपग्रेड किया गया था। यह एयरक्राफ्ट दुश्मन के इलाके में घुसकर अंदर तक मार करने में सक्षम है।

खबर की ‌विस्तृत जानकारी की अभी प्रतीक्षा है।

देश की हर छोटी-बड़ी खबर जानने के लिए पढ़े पंजाब केसरी अखबार।