बिहार में गोपालगंज से लगभग 42 हजार उत्तर पुस्तिकाओं की चोरी से हो रही किरकिरी को देखते हुए बिहार बोर्ड ने मंगलवार की शाम प्रेस कन्फ्रेंस बुलाई। इस कन्फ्रेंस में बिहार बोर्ड ने पूरे मामले पर अपना पक्ष रखा। बोर्ड अध्यक्ष ने कहा कॉपियां चोरी होने की घटना से रिजल्ट पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। उन्होंने बताया कि परीक्षा परिणाम से जुड़े सारे आंकड़े पहले ही प्राप्त हो चुके हैं।

वही इस मामले में गोपालगंज के एसएस बालिका प्लस टू स्कूल के प्राचार्य सह मूल्यांकन केंद्र के को-ऑर्डिनेटर प्रमोद श्रीवास्तव को मंगलवार को बिहार बोर्ड परिसर से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

देर रात पुिलस उन्हें लेकर गोपालगंज रवाना हुई। इस मामले में गोपालगंज के नगर थाने में खुद प्रमोद श्रीवास्तव ने ही प्राथमिकी दर्ज करायी थी, जिसमें स्कूल के आदेशपाल, रात्रि प्रहरी व एक अन्य कर्मी नामजद हैं। इधर, सरकार के निर्देश पर मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की गयी है।

सूत्रों के मुताबिक , गोपालंगज से कॉपी गायब होने की बाद बोर्ड ने मैट्रिक के रिजल्ट की तारीख को बढ़ाने का फैसला किया है। बोर्ड के अनुसार 26 जून को दोपहर 11.30 बजे मैट्रिक का रिजल्ट जारी किया जाएगा। रिजल्ट शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा जारी करेंगे। हालांकि बोर्ड ने पहले 20 जून को जारी करने की घोषणा की थी।

रिजल्ट से पहले गोपालगंज में स्ट्रांग रूम से कॉपी गायब होने के बाद प्रिंसिपल प्रमोद कुमार को बीएसईबी ने उन्हें पटना कार्यालय में बुलाया. बोर्ड ने उनसे करीब दो घंटे तक पूछताछ की। लेकिन प्रमोद कुमार ने संतोषजनक जवाब नहीं दिया। जिसके बाद उन्हें पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

बिहार बोर्ड के अध्यक्ष का कहना है कि मैट्रिक की कॉपियों को गायब होने का असर मैट्रिक के रिजल्ट पर नहीं पड़ेगा। कॉपियों का मूल्यांकन पहले ही हो चुका है और अंक पत्र बोर्ड पहुंच चुका है। उसके आधार पर ही रिजल्ट तैयार किया जा रहा है। गोपालगंज के जिलाधिकारी और एसपी को भी विस्तृत जांच करने का निर्देश दिया गया है। उनसे जांच प्रतिवेदन मांगा गया है। उत्तर पुस्तिकाओं को रिकवरी करने का भी निर्देश दिया गया है।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।