नई दिल्ली: आरजेडी के नेता तेजस्‍वी यादव ने एक बार फिर ट्वीट करके बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। तेजस्‍वी यादव ने सहरसा में एक लड़की के साथ मनचलों द्वारा छेड़छाड़ करने की घटना पर कहा है कि नीतीश राज में बिहार फिर शर्मसार, सहरसा में स्कूल जाती लड़की का यौन उत्पीड़न। नीतीश जी कब अंत होगा ऐसी घटनाओं का? आपको बता दें कि इस घटना का वीडियो वायरल हुआ था, जिसके बाद पुलिस ने इस मामले में एक मनचले को गिरफ्तार कर चुकी है।

बिहार के भोजपुर में महिला को निर्वस्त्र करके घुमाया, तेजस्‍वी बोले- माननीय मुख्यमंत्री जी, ये क्या हो रहा है मेरे बिहार में?

वहीं तेजस्‍वी ने मुजफ्फरपुर बालिका गृह रेप कांड मामले में ट्वीट करते हुए कहा है कि पूरे विश्व में संस्थागत Mass Rape का यह दुर्लभ केस है जहां एक ही छत के नीचे 40 बच्चियों का सरकारी संरक्षण में सामूहिक बलात्कार किया गया है लेकिन सरकार मे बैठे गूंगे, बहरे व अंधे हुक्मरानों द्वारा आत्मा को झकझोरने वाले कुकृत्य करने वालों को सज़ा दिलाने की बजाय बचाया जा रहा है। तेजस्‍वी ने कहा कि 11 करोड़ बिहारवासियों के जनादेश का चीरहरण करने वाले नीतीश जी को केवल 40 लड़कियों के संस्थागत जनबलात्कार के बाद उनकी हत्या पर शर्म थोड़े ना आयेगी? 3 महीने बाद तथाकथित शर्मसार हुए तो वह भी शर्माते-शर्माते है। नैतिक कुमार जी, कहां है नैतिकता?
अंतरात्मा बाबू, कहां है मानवीय संवेदना?
इससे पहले बिहार के भोजपुर जिले में एक युवक की हत्या में शामिल होने के संदेह में उग्र भीड़ ने एक महिला के कपड़े फाड़ दिये और उसे निर्वस्त्र करके घुमाया था. इस मामले में तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट करके सीएम नीतीश कुमार और डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी पर हमला किया था। तेजस्‍वी ने कहा था कि माननीय मुख्‍यमंत्री जी ये क्‍या हो रहा है मेरे बिहार में?

तेजस्‍वी यादव बोले, पिता की बिगड़ती तबीयत को लेकर चिंतित हूं

तेजस्‍वी यादव ने बिहार के डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि कहां दुबके हुए है खुलासा मियां सुशील मोदी जी? आपने बिहार को महाजंगलराज और राक्षस राज में तब्‍दील कर दिया है। आपको सबकुछ मंगलमय दिख रहा है क्‍या? वहीं सीएम नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि माननीय मुख्यमंत्री जी, ये क्या हो रहा है मेरे बिहार में? आज एक महिला को नंगा कर सड़क पर दौड़ा कर पीटा गया है।

पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार ने बताया कि यह घटना कल लापता हुए 19 वर्षीय विमलेश शाह का शव सोमवार सुबह रेलवे ट्रैक के नजदीक बरामद हुआ। उन्होंने बताया कि शाह के गांव दामोदरपुर के लोगों ने उसका शव बरामद होने के बाद रेड लाइट एरिया में रहने वालों पर उसकी गला घोंट कर हत्या करने का संदेह व्यक्त किया। ग्रामीणों ने स्थानीय बाजार में कई दुकानों में आग लगा दी और कई लोगों की पिटाई की। उग्र ग्रामीणों ने एक महिला के कपड़े फाड़ दिये और उसके बाद उसे निर्वस्त्र करके घुमाया. इस दौरान महिला की पिटाई भी की गई।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि भीड़ ने पास से गुजर रही ट्रेन पर भी पथराव किया. उन्होंने बताया कि घटनास्थल पर पहुंची पुलिस को हिंसा पर उतारू लोगों को नियंत्रित करने के लिए हवाई फायरिंग करनी पड़ी। भीड़ की ओर से भी गोलीबारी की गयी। उन्होंने वहां स्थिति को नियंत्रण में बताते हुए कहा कि इस मामले में प्राथमिकी दर्ज किये जाने के साथ भीड़ में शामिल लोगों की शिनाख्त कर उनकी गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी है।