BREAKING NEWS

AN-32 रिकवरी ऑपरेशन : दुर्घटना स्थल से 6 वायुसेना कर्मियों के शव बरामद◾राहुल गांधी बोले- मेरा रुख आज भी वही, राफेल सौदे में चोरी हुई◾बिहार में चमकी बुखार से मरने वालों की बढ़ी संख्या, अब तक 135 मासूमों की मौत◾कस्टोडियल डेथ केस : बर्खास्त आईपीएस अधिकारी संजीव भट्ट को उम्रकैद◾सरकार मजबूत, सुरक्षित और समावेशी भारत बनाने की दिशा में आगे बढ़ रही है : राष्ट्रपति कोविंद ◾दाऊद से पूछताछ कर चुके अधिकारी का खुलासा, 'डॉन' ने कुबूल कर लिया था अपराध ◾लखनऊ में बड़ा हादसा : 29 बारातियों से भरा वाहन नहर में गिरा, 7 बच्चे लापता◾तीन दिन बाद फिर घटे डीजल के दाम, पेट्रोल स्थिर !◾PM मोदी पांचवें अंतरराष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए कल पहुंचेंगे रांची ◾कांग्रेस तथा कुछ अन्य विपक्षी दल नहीं हुए बैठक में शामिल◾AAP ने विधानसभा अध्यक्ष से की BJP में शामिल हुए अपने 2 विधायकों को अयोग्य ठहराने की मांग ◾एक साथ चुनाव कराने पर विचार करने के लिए समिति गठित करेंगे प्रधानमंत्री : सरकार ◾AICC ने कर्नाटक कांग्रेस की वर्तमान कमेटी को भंग करने का किया फैसला - के सी वेणुगोपाल ◾मुखर्जी नगर हमला मामला : केजरीवाल ने उच्च न्यायालय की टिप्पणी का किया स्वागत ◾‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ का ज्यादातर पार्टियों ने किया समर्थन, वाम दलों और ओवैसी ने किया विरोध ◾मुखर्जी नगर मामले में उच्च न्यायालय ने कहा, दिल्ली पुलिस का हमला बर्बरता का उदाहरण ◾सनी देओल का चुनावी खर्च 70 लाख रूपये की सीमा से ‘ज्यादा’, नोटिस जारी◾‘एक राष्ट्र, एक चुनाव’ पर समिति बनाएंगे PM मोदी : राजनाथ सिंह◾Top 20 News - 19 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾बच्चों की मौत मामला , हर्षवर्धन ने बिहार में 5 चिकित्सा टीमें भेजी ◾

Top News

ईवीएम पर सवाल उठाने को भाजपा, सरकार ने विपक्ष की ‘हार की हताशा’ बताया

विपक्षी दलों द्वारा इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) की विश्वसनीयता पर सवाल उठाने को भाजपा एवं केंद्र सरकार के मंत्रियों ने ‘डरे हुए लोगों की हार की हताशा’ बताया और कहा कि विपक्षी दलों को ईवीएम एवं चुनाव आयोग की प्रमाणिकता पर सवाल उठाने की बजाए सम्मानपूर्वक तरीके से हार को स्वीकार करना चाहिए। भाजपा के वरिष्ठ नेताओं एवं केंद्रीय मंत्रियों ने कहा कि यदि जनता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनकर फिर से सत्ता में लाती है तो वे हार को सम्मानपूर्वक स्वीकार करें।

भाजपा नेता एवं कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने विपक्ष पर निशाना साधते हुए संवाददाताओं से कहा कि ईवीएम तब ठीक थीं, जब ममता बनर्जी, एन चंद्रबाबू नायडू और अमरिंदर सिंह जैसे उनके नेता चुनाव जीते और सत्ता में आये लेकिन जब भाजपा जीतती है अथवा ऐसा प्रतीत होता है कि मोदी सत्ता में वापस आ रहे हैं तो उनके लिए ईवीएम मशीनें गलत हो जाती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘ईवीएम तब अच्छी हैं जब ममता बनर्जी दो बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनती हैं और अमरिंदर सिंह पंजाब के मुख्यमंत्री बनते हैं। यदि वे जीते तो ईवीएम अच्छी।

लेकिन जब इसकी उम्मीद हो कि हम जीतेंगे क्योंकि इस देश के लोग नरेंद्र मोदी को फिर से प्रधानमंत्री बनाना चाहते हैं तो ईवीएम गलत हो जाती हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा उनके (विपक्ष) व्यवहार की निंदा करती है और उनसे कहती है कि वे अपनी हार सम्मानपूर्वक स्वीकार करें।’’ उन्होंने कहा कि हार की हताशा में चुनाव की प्रामाणिकता पर सवाल उठाना दुर्भाग्यपूर्ण है।

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने कहा कि जिन 21 पार्टियों ने ईवीएम के मुद्दे को उठाया था, उनमें से 17 दलों ने तो इसी मशीन के आधार पर जीत दर्ज की थी। तब इन दलों ने इस मुद्दे को नहीं उठाया। उन्होंने कहा कि ऐसा करके विपक्षी दलों ने शिकस्त और हार स्वीकार कर ली है। यह समझने की जरूरत है कि विचारधारा और काम के आधार पर देश चलेगा।

 राठौर ने कहा कि ईवीएम के बारे में चार पीआईएल दायर की गई थी और यह तय हुआ कि 5 मतदान केंद्र पर वीवीपैट का मिलान किया जायेगा। इसके बावजूद इस तरह से ईवीएम और चुनाव आयोग पर सवाल उठाना हार की हताशा है। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि विपक्षी दल देश को बेवकूफ नहीं बना सकते।

देश का जनादेश उन्हें स्वीकार करने की जरूरत है। उन्हें अपने किये की माफी भी मांगनी चाहिए। केंद्रीय मंत्री एवं अकाली दल की नेता हरसिमरत कौर बादल ने कहा कि विपक्ष चुनाव हार रहा है, ऐसे में वह हताशा में इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले ईवीएम एवं वीवीपीएटी के मुद्दे पर कांग्रेस, सपा, बसपा, तृणमूल कांग्रेस सहित 22 प्रमुख विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार को चुनाव आयोग का रुख किया और उससे यह आग्रह किया कि मतगणना से पहले बिना क्रम के मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी पर्चियों का मिलान किया जाए।