चीनी सेना की कश्मीर में घुसने की तैयारी


बीजिंग : डोकलाम में भारतीय सेना के आक्रामक रुख से चीन और भड़क गया है। एक चीनी थिंक टैंक ने कहा है कि जिस तर्क से भारत डोकलाम में चीन को सड़क बनाने से रोक रहा है, उसी तर्क से कोई तीसरा देश पाकिस्तान के समर्थन में कश्मीर में भी घुस सकता है। चीन की इस धमकी को भारतीय कूटनीतिक क्षेत्र में दबाव बनाने की रणनीति माना जा रहा है।

Source

चाइना वेस्ट नॉर्मल यूनिवर्सिटी में भारतीय अध्ययन केंद्र के निदेशक लांग झिंगचुन ने कहा कि यदि भूटान ने भारत से अपनी रक्षा का आग्रह किया भी था तो यह उसकी सीमा तक होना चाहिए। विवादित इलाकों में भारतीय सेना को नहीं जाना चाहिए। ग्लोबल टाइम्स में एक लेख लिखकर उन्होंने कहा कि इसी तर्क से यदि पाकिस्तान सरकार किसी तीसरे देश से अनुरोध करती है तो वह अपनी सेना लेकर कश्मीर में घुस सकता है।

Source

ऐसा पहली बार है कि चीनी मीडिया में पाकिस्तान और कश्मीर को लेकर ऐसी बात कही गई है। लेख में कहा गया है कि भारतीय सेना ने डोकाला क्षेत्र में भूटान को मदद करने के नाम पर प्रवेश किया है लेकिन सच्चाई है कि यहां भूटान को मदद करने के लिए घुसपैठ की गई है। चीन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) के अंदर सड़कों और अन्य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का निर्माण कर रहा है

Source

 उसकी महत्वाकांक्षी परियोजना सीपैक भी पीओके से होकर गुजर रही है जिस पर भारत ने आपत्ति भी जताई है। ग्लोबल टाइम्स में छपे अपने लेख के जरिए जिंगचुग ने सलाह देते हुए कहा है कि भारत को समर्थन करने वाले पश्चिमी देशों की परवाह किए बिना बीजिंग डोकलाम विवाद को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उठा सकता है क्योंकि पश्चिमी देशों को चीन के साथ कई व्यापार करने हैं।