नई दिल्ली:  संसद में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की प्रधानमंत्री को अचानक गले लगाने को लेकर भले ही सोशल मीडिया में चुटकले बनने लगे हो, लेकिन कांग्रेस ने राहुल गांधी का पीएम मोदी से गले लगने की तस्वीर का एक अलग तरह से इस्तेमाल किया है।  कांग्रेस ने अब दीवारों पर इसके पोस्टर लगाने शुरू कर दिये हैं  ‌जिससे एक नया ‘पोस्टर वॉर’ शुरू हो गया है। जिसे देखकर यही मालूम पड़ रहा है कि कांग्रेस ने चुनाव प्रचार के लिए नई टैगलाइन निर्धारित कर ली है।

दरअसल, समाचार एजेंसी एएनआई ने एक तस्वीर जारी की है, जिसमें राहुल गांधी का पीएम मोदी से गले मिलने का पोस्टर है। उस पोस्टर को मुंबई कांग्रेस ने जारी किया है। मुंबई कांग्रेस ने राहुल गांधी का पीएम मोदी से गले मिलने वाला पोस्टर दीवार पर लगाया है। इस पोस्टर में बड़े-बड़े शब्दों में लिखा है- ”नफरत से नहीं, प्यार से जीतेंगे।” इस पोस्टर में पीएम मोदी और राहुल की वह तस्वीर भी है। इस पोस्टर को मुंबई कांग्रेस ने अंधेरी में लगाया है।

गौरतलब है कि लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव  के पक्ष में बोलते हुए अचानक राहुल गांधी अपनी जगह से पीएम मोदी की सीट पर चले गये थे और उन्हें गले लगा लिया था। हालांकी, संसद में मौजदू किसी भी सदस्य को इसकी उम्मीद नहीं थी, यहां तक पीएम मोदी को भी नहीं। इस दौरान राहुल गांधी ने कहा था कि भले आप मुझे पप्पू कहें, गालियां दें, मगर मेरे भीतर आपके प्रति नफरत नहीं होगा। मैं आपके भीतर से नफरत और घृणा को निकाल फेंकूंगा और नफरत से नहीं बल्कि दिल से आपको जीतूंगा।

 राहुल गांधी की ‘जादू की झप्पी’ का VIDEO

 

हालांकि, राहुल के इस व्यवहार की बीजेपी नेताओं ने कड़ी आलोचना की थी. बीजेपी सांसद किरण खेर ने तो यहां तक कहा था कि राहुल गांधी को शर्म आनी चाहिए. अन्य बीजेपी नेताओं ने भी इसे गरीमा के खिलाफ माना था. वहीं कांग्रेस ने इसे स्पॉन्टेनियस बताया था.