गुजरात माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की ओर से इस साल मार्च में आयोजित मैट्रिक (कक्षा 10 की एसएससी) की परीक्षा के परिणाम आज घोषित कर दिये गये जिसमें नियमित परीक्षार्थियों में से 67.50 प्रतिशत उत्तीर्ण हुए हैं। उत्तीर्णता का प्रतिशत पिछले साल के 68.24 था। इस साल दोबारा परीक्षा देने वालों तथा बाहरी और निजी समेत कुल 1103854 विद्यार्थियों ने परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया था जिनमें से 1085938 परीक्षा में बैठे। नियमित 790240 परीक्षार्थियों में से 533144 यानी 67.50 प्रतिशत उत्तीर्ण हुए हैं।

दोबारा परीक्षा देने वाले 233476 परीक्षार्थियों में से करीब 14 प्रतिशत तथा बाहरी और निजी तौर पर परीक्षा देने वाले 37725 विद्यार्थियों में से मात्र 6.94 प्रतिशत इस बार उत्तीर्ण हो सके हैं। जिला वार सूरत पिछले साल की तरह इस बार भी सबसे बेहतर प्रतिशत वाला जिला रहा है। वहां इस बार सर्वाधिक 80.06 प्रतिशत उत्तीर्णता रही है जबकि इस मामले में आदिवासी बहुल जिला दाहोद 37.35 प्रतिशत के साथ सबसे निचले क्रम पर रहा है।

केंद्रवार जूनागढ़ जिले का खोरासा 96.93 प्रतिशत के साथ अव्वल और दाहोर का सुखसर मात्र 5.93 प्रतिशत के साथ सबसे फिसड्डी केंद्र रहा है। छात्राओं ने एक बार फिर छात्रों से बाजी मार ली है। उनकी उत्तीर्णता का प्रतिशत 72.69 जबकि छात्रों का मात्र 63.73 प्रतिशत रहा है। माध्यम के लिहाज से गुजराती उत्तीर्णता प्रतिशत के मामले में 65.16 प्रतिशत के साथ अन्य माध्यमों की तुलना में सबसे निचले क्रम पर रहा है। मराठी,उर्दू, तमिल और उड़िया माध्यम के परिणाम भी इससे बेहतर रहे हैं। अंग्रेजी माध्यम का परिणाम 90.12 के साथ सबसे बेहतर रहा है। हिन्दी माध्यम के लिए उत्तीर्णता का प्रतिशत 72.30 रहा है। 6378 छात्र ए 1 जबकि 33956 ए 2 ग्रेड से उत्तीर्ण हुए हैं।

इस साल कुल 368 स्कूलों में शत प्रतिशत परिणाम आया है हालांकि यह संख्या पिछले साल के 451 की तुलना में कम है। शिक्षा मंत्री भूपेन्द्रसिंह चूडासमा ने कहा कि सरकार गुजराती माध्यम के परिणाम को बेहतर बनाने के लिए जरूरी कदम उठायेगी। बोर्ड ने परीक्षा परिणाम को सुबह आठ बजे अपने वेबसाइट जीएसईबी डॉट ओरआजी और जीआईपीएल डॉट नेट पर अपलोड कर दिया है। अंक पत्र आज 11 बजे से दोपहर बाद चार बजे तक विभिन्न केंद्रों से लिये जा सकेंगे।

जिलों और सीमावर्ती केंद्रशासित प्रदेशों में उत्तीर्णता का प्रतिशत अवरोही क्रम (घटते क्रम) में इस प्रकार है –

सूरत 80.06, जूनागढ़ 78.33, राजकोट 75.92, मोरबी 73.59, डांग 72.50, अहमदाबाद शहर 72.42, देवभूमि द्वारका 71.60, जामनगर 71.28, महेसाणा 71.24, अहमदाबाद ग्राम्य 70.77, दमण 70.71, नवसारी 70.64, गांधीनगर 70.23, भरूच 70.14, भावनगर 69.17, गिर सोमनाथ 69.16, बोटाद 68.40, कच्छ 68.30, सुरेन्द्रनगर 67.76, बनासकांठा 66.86, वलसाड 66.58, वडोदरा 66.00, अमरेली 65.51, पोरबंदर 62.81, पाटण 62.04, नर्मदा 60.79, आणंद 60.33, साबरकांठा 60.13, दादरा नगर हवेली 59.31, पंचमहाल 58.41, तापी 58.37 ,खेडा 58.27, अरावल्ली 56.95, दीव 55.80, छोटा उदेपुर 49.06, महीसागर 48.85, दाहोद 37.35 ।

अधिक जानकारियों के लिए बने रहिये पंजाब केसरी के साथ।