भारतीय सेना ने सात पाकिस्तानी मार गिराए


जम्मू : एलओसी पर पाक सेना की फायरिंग का भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया है। पाक की फायरिंग में भारतीय प्रादेशिक सेना के एक जवान और उसकी पत्नी के मारे जाने के बाद भारतीय सेना ने जवाबी फायरिंग की जिसमें पाक सेना के दो जवान मारे गये हैं और पांच नागरिक भी हताहत हुए हैं। सेना के खुफिया सूत्रों के अनुसार पाक द्वारा मोर्टार दागे जाने के बाद भारतीय सेना ने भारी फायरिंग से पाक को करारा जवाब दिया।

                                                                                                 Source

इस फायरिंग में पाकिस्तान की तरफ पांच नागरिक चपेट में आ गये। बताया जा रहा है कि इन पांच नागरिकों के साथ पाकिस्तानी चौकियों को भी भारतीय सेना ने निशाना बनाया और इसमें दो पाक सैनिक मारे गये व सात अन्य घायल हो गये। भारतीय सेना द्वारा दिए गए करारे जवाब में पाकिस्तान को भी बड़ा नुकसान हुआ है। खुफिया एजेंसियों ने बताया कि कुल 7 पाकिस्तानी सैनिक और नागरिक मारे गए हैं, जबकि 16 घायल हुए हैं।

 

                                                                                               Source 

सूत्रों ने बताया कि भारत के प्रतिशोध में पांच पाकिस्तानी नागरिक मारे गए और एक दर्जन से ज्यादा नागरिक घायल हो गए और दो पाकिस्तानी सैनिकों की मौत हो गई और सात पाकिस्तानी सैनिक घायल हो गए। हमारी सेना की तरफ से उनकी पोस्ट पर हमला किया और क्षतिग्रस्त भी किया गया। सूत्रों ने बताया कि सीमा पर एक पाकिस्तानी पोस्ट को भी क्षतिग्रस्त किया गया, जिसमें दो पाकिस्तानी सैनिक मारे गए और सात घायल हो गए जिसमें तीन गंभीर हैं।

 

                                                                                            Source

जो भी पाकिस्तानी सैनिक मारे गए और घायल हुए हैं, वे नियंत्रण रेखा पर तैनात 24 फ्रंटियर फोर्स यूनिट से हैं। पाकिस्तानी सेना ने संघर्ष विराम का उल्लंघन करते हुए एलओसी से सटी भारतीय सैन्य चौकियों पर छोटे एवं स्वचालित हथियारों से अंधाधुंध गोलीबारी एवं मोर्टार दागे। भारतीय सैनिकों ने इसका माकूल जवाब दिया।

 

                                                                                           Source

पाकिस्तानी सैनिकों ने स्थानीय गांवों को निशाना बनाकर भारी गोलीबारी और गोलाबारी की थी। पाकिस्तान की ओर से जून महीने में संघर्ष विराम उल्लंघन की 23 घटनाएं, पाकिस्तान के विशेष दस्ते का एक हमला और घुसपैठ की कोशिशों की दो घटनाएं हुई हैं, जिनमें तीन जवान शहीद होने के साथ चार लोगों की मौत हो गई थी और 12 अन्य घायल हो गए थे।