पूरी दु‌निया को अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की मुलाकात का बेसब्री से इंतजार है। यह मुलाकात  मंगलवार को सिंगापुर में ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन होने जा रही है। दोनों नेता इस सम्मेलन के लिए सिंगापुर पहुंच गये हैं। यह पहला मौका है जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति और उत्तर कोरियाई नेता के बीच मुलाकात होगी। उत्तर कोरिया द्वारा परमाणु हथियारों के परीक्षण और पिछले दिनों परीक्षण स्थलों को नष्ट करने के बीच पूरी दुनिया की निगाहें इस सम्मेलन पर टिकी हुई हैं।

उधर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ बैठक के दौरान उन्हें एक मिनट में ही इस बात का पता चल जाएगा कि किम जोंग डील करने को लेकर सीरियस हैं या नहीं उन्होंने बैठक को नॉर्थ कोरिया के लिए एक आखिरी मौका भी करार दिया। दोनों नेता कल सिंगापुर में मीटिंग करेंगे। ट्रंप और किम पहले ही सिंगापुर पहुंच चुके हैं।

अमेरिका पहले ही कह चुका है कि बैठक का प्रमुख एजेंडा नॉर्थ कोरिया का परमाणु हथियार छोड़ना है। ट्रंप ने कहा- ‘मुझे लगता है कि किम जोंग उन अपने लोगों के लिए अच्छा करना चाहते हैं और उनके पास ऐसा करने का अवसर है। यह एकमात्र मौका है।’ हालांकि ट्रंप ने ये भी कहा कि उत्तर कोरिया ‘हमारे साथ बेहद अच्छा काम कर रहा है।’ सिंगापुर की सरकार की ओर से जारी फोटोज के मुताबिक, किम चीन की फ्लाइट (एयर चाइना) से यहां पहुंचे।

कई विशेषज्ञों का मानना है कि उत्तर कोरिया ऐसी स्थिति में है कि वह पूरे अमेरिका को अपनी परमाणु मिसाइलों से निशाना बनाने में सक्षम हो सकता है, साथ ही इसको लेकर भी गहरा संदेह है कि किम मुश्किल से हासिल परमाणु हथियार छोड़ देंगे। किम जोंग की अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ मीटिंग पर सिंगापुर का करीब 100 करोड़ रुपये खर्च हो रहा है।

ट्रंप और किम जोंग के बीच ऐतिहासिक बैठक की तैयारियों को सिंगापुर अंतिम रूप देने में जुटा हुआ है। होटलों की लॉबी को फूलों से सजाया गया है और सुरक्षा के मद्देनजर कई चेकप्वाइंट्स बनाए गए हैं।

उत्तर कोरिया के किसी नेता और अमेरिका के वर्तमान राष्ट्रपति के बीच होने वाला यह पहला शिखर सम्मेलन होगा। उत्तर कोरिया ने कूटनीतिक और आर्थिक प्रतिबंधों का सामना किया है क्योंकि उसने परमाणु और बैलिस्टिक मिसाइल कार्यक्रमों के विकास को आगे बढ़ाया है। किम ने रविवार को सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सिन लुंग से मुलाकात की। किम ने ली से कहा- ‘उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच होने वाले इस ऐतिहासिक सम्मेलन पर पूरे विश्व की नजर है और आपके ईमानदार प्रयासों के लिए धन्यवाद।’

कैपेला होटल में ट्रंप और किम के बीच ऐतिहासिक मुलाकात होगी। सुरक्षा व्यवस्था का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि जब संवाददाताओं ने तैयारियों का जायजा लेने के लिए अंदर जाने का प्रयास किया तो वहां मौजूद सुरक्षाकर्मी ने उन्हें रोक दिया।

 

 

 

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक करें।