कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की नेता सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा, उनके परिजनों तथा कर्मचारियों को प्रताड़ित कर रही है और गैर कानूनी तरीके से उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने शनिवार को यहां पार्टी मुख्यालय में एकाएक बुलाए गये संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बदले की भावना से यह कार्रवाई करवा रहे हैं। कानून की धज्जियां उड़ाई जा रही है और ईडी के अधिकारी मनमानी कर रहे हैं।

इस दौरान पार्टी कोषाध्यक्ष अहमद पटेल तथा संचार विभाग के प्रमुख रणदीपसिंह सुरजेवाला भी मौजूद थे श्री सिब्बल ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम के बारे में आ रहे एक्जिट पोल देखकर घबरा गयी है इसलिए अनाप शनाप कार्य कर रही है। मोदी सरकार पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि अगर एक्जिट पोल देखकर यह हाल है तो जब ‘एक्जिट’ यानी सत्ता से बाहर होंगे तो तब क्या होगा।

विरोधियों से लड़ने के लिए मोदी ने CBI और ईडी को बनाया ‘बंधुआ मजदूर’ : कांग्रेस

उन्होंने कहा कि ईडी के लोग श्री वाड्रा तथा उनके परिजनों और कर्मचारियों के खिलाफ कानून का पालन किए बिना कार्रवाई कर रहे हैं, वारंट नहीं दिखा रहे हैं,पहचान नहीं बता रहे हैं,मोबाइ्ल फोन छीन रहे हैं, घर में लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है,बूढी मां को डराया जा रहा है, खाली पेपर पर हस्ताक्षर कराए जा रहे हैं।

श्री सिब्बल ने यह भी आरोप लगाया कि श्री वाड्रा के सुखदेव विहार स्थित दफ्तर में ईडी के लोगों ने तोड़फोड की है। चार कर्मचारियों को बिना वारंट के हिरासत में ले लिया गया और सुबह साढे चार बजे छोड़। ऐसा क्यों किया गया इसके बारे में कुछ नहीं बताया गया।

कांग्रेस नेता ने कहा कि सुरेंद नाम के कर्मचारी का बेटा बीमार था उसको जाने नहीं दिया गया। उल्टा मारा पीटा गया और खाली कागज पर हस्ताक्षर कराए गए। एक और कर्मचारी मनोज के घर पर भी छापे मारे गए और उस वक्त वह घर पर नहीं था। उसकी वृद्ध मां घर पर थी। पत्नी ने बच्चे को लेने स्कूल जाने का आग्रह किया लेकिन पहले रोका गया लेकिन बाद में मुश्किल से इजाजत दी गयी। घर पर बिठाए रखा। मनोज के पिता के घर पर और फिर उसकी बहिन के घर पर भी छापे मारे गये।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहले ताली बजाबजा कहा था कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदम्बरम के पुत्र कार्ति चिदम्बर को जेल भेजा है। उन्होंने सवाल किया कि श्री मोदी, कौन होते हैं किसी को जेल भेजने वाले। उनके बयान से जाहिर है कि जेल भिजवाने का काम वही कर रहे हैं। उनके इशारे पर जेल भेजा जा रहा है और अगर ऐसा है तो यह गलत काम हो रहा है। मोदी सरकार जांच एजेंसी का दुरुपयोग कर रही है।