आयकर 2016-17 के लिए रिटर्न भरने की अंतिम तिथि अब 05 अगस्त


अब ITR भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई से बढ़ाकर 5 अगस्त कर दी गई है | इससे पहले आयकर विभाग की ओर से कहा गया था कि इसकी आखिरी तारीख नहीं बढ़ाई जाएगी. विभाग के पास इलैक्ट्रॉनिक रूप में पहले ही दो करोड़ से ज्यादा रिटर्न दाखिल किए जा चुके हैं | उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट (सीए) सरकार से मांग कर रहे थे कि इनकम टैक्स फाइल करने की तारीख को आगे बढ़ाया जाए क्योंकि वो अभी जीएसटी के काम उलझे हुए हैं और आईटी रिटर्न फाइल करने का वक्त नहीं निकाल पा रहे हैं | लेकिन अब शनिवार को सीबीडीटी यानी सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्स ने साफ कह दिया है कि आईटी रिटर्न भरने की आखिरी तारीख 31 जुलाई ही रहेगी | सीबीडीटी ने कहा कि सभी इनकम टैक्स पेयर्स को समय पर रिटर्न फाइल करना चाहिए और फिलहाल इसकी डेट आगे बढ़ाने पर कोई विचार नहीं है |

इन डॉक्यूमेंट्स की होगी जरूरत
आपकी इनकम पर निर्भर करेगा कि आईटीआर फाइल करने के लिए किन-किन डॉक्यूमेंट्स की जरूरत पड़ेगी | सैलरीड हैं तो एंप्लॉयर द्वारा दिया गया फॉर्म 16, सेविंग अकाउंट और फिक्स्ड डिपॉजिट पर मिले ब्याज के स्टेटमेंट्स, टीडीएस सर्टिफिकेट, सभी कटौतियों के प्रूफ, होम लोन पर दिए गए ब्याज का स्टेटमेंट आदि | आपने पिछले फाइनिशल इयर में नौकरी बदली है तो पिछली नौकरी और मौजूदा नौकरी दोनों के फॉर्म 16 की जरूरत होगी. अगर आप इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे हैं तो ध्यान रखें कि आपको अपने सभी अकाउंट्स की डिटेल देनी है |  2017-18 के समय तो आपको ये भी डिटेल देनी है जिसमें नोटबंदी के दौर में आपने अपने अकाउंट में कैश डिपॉजिट किया हो |

इनकम टैक्स विभाग अनुशार इस साल से 31 जुलाई से पहले रिटर्न भरना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि आईटी रिटर्न का सिस्टम सख्त करते हुए समय से रिटर्न फाइल न करने वालों को पेनल्टी देने का नियम लागू कर दिया है | आयकर रिटर्न की पहले के सिस्टम में अगर किसी ने अपने सभी टैक्स चुकाएं हैं तो वो पिछले 2 साल का रिटर्न बिना किसी बाधा के भर सकता था |