प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज एक बार फिर उत्तर प्रदेश के दौरे पर हैं। शाहजहांपुर में पीएम मोदी ने किसान कल्याण रैली को संबोधित किया।इस दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने गन्ना किसानों और उनके समर्थन मूल्य को लेकर कई बातें कही। साथ ही उन्होंने विपक्ष की पर भी करारा हमला किया।

महागठबंधन पर चुटकी लेते हुए पीएम ने कहा कि जितने ज्यादा दल एक साथ मिलेंगे उतना ही दल-दल होगा और जितना ज्यादा दल-दल होगा, उतना ही कमल खिलेगा। पीएम मोदी ने अविश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए कहा कि देश के कोने-कोने को मोदी पर विश्वास है, लेकिन कुछ दलों को विश्वास नहीं है।

 हमने अविश्वास का कारण पूछा, वो गले पड़ गए

modi

मोदी ने कहा, ‘हमने उनके अविश्वास का बार-बार कारण पूछा है, लेकिन वो कारण नहीं बता पाए और गले पड़ गए।’ उन्होंने आगे कहा कि कल देश की जनता ने देखा कि कुछ लोगों को प्रधानमंत्री की कुर्सी के अलावा कुछ नहीं दिखता है, उन्हें ना देश दिखता है ना देश का गरीब दिखता है। कांग्रेस पर हमला करते हुए मोदी ने कहा है कि कांग्रेस ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया है। ये लोग सिर्फ घड़ियाली आंसू बहाते हैं।

किसानों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने अपने भाषण में बताया कि पूरे देश का किसान हमें आशीर्वाद दे रहा है। उन्होंने कहा, ‘कुछ दिन पहले गन्ना किसान मुझसे मिलने दिल्ली आए थे और मैंने उनसे कहा था कि जल्द ही गन्ना किसानों को एक खुशखबरी सुनने को मिलेगी और वही वादा निभाने मैं शाहजहांपुर आया हूं।

पीएम ने बताया कि गन्ना किसानों को उनकी सरकार ने तोहफा दिया है। इस बार जो गन्ना बोया गया है, उसका लागत से लगभग पौने दो गुना ज्यादा मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने यह फैसला किया है कि देश के गन्ना किसानों को गन्ने पर लागत मूल्य के ऊपर लगभग 80% सीधा लाभ मिलेगा। धान, मक्का, दाल और तेल वाली 14 फसलों के सरकारी मूल्य में 200 रुपये से 1800 रुपये की बढ़ोतरी देश के इतिहास में कभी नहीं हुई है।

गांधी परिवार पर निशाना साधा

modi

पीएम ने अपने काम की तारीफ करते हुए कहा कि संसद में अपना काम किया और लाल लालबत्ती छीन ली। उन्होंने गांधी परिवार पर हमला करते हुए कहा कि परिवारवाद के खिलाफ खड़ा होना ही उनका ‘गुनाह’ है।

वही, पीएम मोदी ने बताया, इस बार जो गन्ना बोया है उसकी प्रति कुंतल लागत 155 रुपये है। लेकिन इस बार जो मूल्‍य तय किया गया है वो पौने दो गुना हो रहा है। पीएम ने आगे कहा कि अगर चीनी की रिकवरी प्रति कुंतल कम भी होती है तो भी पहले से अधिक 261 रुपये का भाव मिलेगा।

रैली में मौजूद थे सीएम योगी आदित्यनाथ 

बता दें कि रैली शाहजहांपुर जिले के रौजा क्षेत्र के रेलवे मैदान पर हुई। इस रैली में मुख्यमंत्री योगी आदित्यानथ भी मौजूद थे। इसके अलावा मंत्री मेनका गांधी और सुरेश खन्ना सहित राज्य के कई बड़े नेता भी इस रैली में मौजूद थे।