जम्मू-कश्मीर के माछिल सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास पाकिस्तान सेना ने एक बार फिर सीजफायर का उल्लंघन किया जिसमे सेना एक जवान शहीद हो गया है। पिछले 24 घंटों के दौरान संघर्ष विराम में दो भारतीय जवान घायल हो गए और एक घर क्षतिग्रस्त हो गया। भारी बर्फबारी के चलते घुसपैठ के मार्ग बंद होने से पहले पाकिस्तानी सैनिक आतंकवादियों की घुसपैठ में मदद के लिए संघर्ष विराम का उल्लंघन कर सीमा पर गोलीबारी कर रहे हैं।

बताया जा रहा है कि लगभग 200 प्रशिक्षित आतंकवादी भारतीय सीमा में घुसने की फिराक में सीमा पार इंतजार कर रहे हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना किसी तरह की घुसपैठ को रोकने के लिए सचेत हैं। उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने बुधवार रात से अंधाधुंध गोलीबारी करने के बाद एक बार फिर आज सुबह सीमा पर कमलकोट में अग्रिम भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर बनाकर गोलीबारी की।

केन्द्र की बड़ी घोषणा, जम्मू-कश्मीर में सीजफायर खत्म, ‌फिर शुरू होगा आॅपरेशन ‘आल आउट’

भारतीय सेना ने भी जबावी कार्रवाई की। पाकिस्तानी सेना ने आज सुबह 09:35 बजे गोलीबारी और मोर्टार दागे। उन्होंने नागरिक क्षेत्रों को भी निशाना बनाकर गोलियां दागी। एक बम गोला उरी के बतर कुदीबारजा में हाकिम अली मीर के मकान के पास गिरा, जिससे मकान क्षतिग्रस्त हो गया लेकिन इसमें कोई हताहत नहीं हुआ। गोलीबारी शुरु होने के बाद ही मकान में रहने वाले लोग यहां से चले गये थे। उन्होंने बताया कि गोलीबारी सुबह 11 बजे बंद हो गयी।

उरी सेक्टर में बुधवार को पाकिस्तानी सेना की गोलीबारी में दो भारतीय जवान आठ राष्ट्रीय राइफल्स के सिपाही दुपो विशुनाथ और नायक एम। वलीम घायल हो गये। पाकिस्तानी सेना ने गुरुवार को नियंत्रण रेखा की अग्रिम चौकियों को निशाना बनाने के साथ-साथ कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में अंधाधुंध गोलीबारी एवं बमबारी की।

भारतीय सेना ने भी उनका मुंहतोड़ जवाब दिया। उन्होंने कहा कि गोलीबारी में खान बस्ती, रंगपयीन एवं तंत्रे क्षेत्र प्रभावित हुए। भारत की तरफ से किसी भी तरह के जान-माल की हानि नहीं हुई है और पाकिस्तान की तरफ क्या क्षति हुई है, उसकी जानकारी नहीं मिल सकी है।