कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आरटीआई विधेयक में प्रस्तावित संशोधन की आलोचना करते हुए गुरुवार को भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा सच्चाई छिपाने में विश्वास करती है।

राहुल ने ट्वीट कर कहा,’हर भारतीय को सच्चाई जानने का अधिकार है। भाजपा का मानना है कि सत्य लोगों से छिपा होना चाहिए और उन्हें सत्ता में बैठे लोगों से सवाल नहीं करना चाहिए। आरटीआई में प्रस्तावित संधोधन इसे बेकार बना देंगे।’

उन्होंने कहा कि हर भारतीय को सूचना का अधिकार (संशोधन) विधेयक 2018 का विरोध करना चाहिए। केंद्र सरकार ने बुधवार को कहा था कि वह सूचना का अधिकार (आरटीआई) अधिनियम, 2005 में संशोधन करने के प्रस्ताव पर विचार कर रही है।

आरटीआई अधिनियम में प्रस्तावित संशोधन केंद्र सरकार को केंद्रीय सूचना आयोग के सूचना आयुक्तों के कार्यकाल, वेतन और भत्ते और राज्य सूचना आयोगों के निर्णय लेने के लिए सशक्त बनाना चाहते हैं।

सूचना आयोग सूचना तक पहुंच के दावों पर निर्णय लेने वाले अंतिम अधिकारी होते हैं जो संविधान के तहत एक मौलिक अधिकार है।