अगले साल होने जा रहे लोकसभा चुनावों के मद्देनजर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) ने सोमवार को पार्टी अध्यक्ष मायावती को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के तौर पर प्रोजेक्ट किया है। साथ ही कहा है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी इस पद के उपयुक्त नहीं है, क्योंकि उनकी मां विदेशी मूल की हैं। इस मामले पर मायावती ने कहा बीसपी के नेता पार्टी  लाइन से अलग न बोले। उन्होने चेताया ‌कि  एेसा होने पर सख्त कदम उठाया जाएगा।

लोकसभा चुनाव में पार्टी की रणनीति को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बीएसपी के राष्ट्रीय कॉर्डिनेटर वीर सिंह और जय प्रकाश सिंह ने बताया- “मायावती का देश के प्रधानमंत्री बनने का सबसे सही समय है और सिर्फ वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को चुनौती दे सकती हैं।” जयप्रकाश सिंह के राहुल पर बयान के बाद पार्टी प्रमुख मायावती ने उन्हें नेशनल कॉर्डिनेटर के पद से हटा दिया है।

जयप्रकाश सिंह ने कहा- “कर्नाटक में एचडी कुमारस्वामी को मुख्यमंत्री बनाने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका के बाद वह पावरफुल पॉलिटिशियन के तौर पर उभरी हैं। वहीं एक मात्र ऐसी दबंग लीडर है जो नरेन्द्र मोदी और अमित शाह की चुनावी जीत को रोक सकती हैं।”

उन्होंने आगे कहा- “वह सिर्फ एक दलित लीडर ही नहीं हैं बल्कि उन्हें सभी समुदायों का समर्थन हासिल है। अब समय आ गया है जब उन्हें 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री बनाया जाए।” राहुल गांधी जिन्हें कांग्रेस के प्रधानमंत्री के चेहरे के तौर पर माना जा रहा है, उसको लेकर सिंह ने कहा- राहुल अपने पिता की तुलना में अपनी मां की तरह ज्यादा दिखते हैं। और उनकी मां विदेश मूल की हैं, इसलिए वह कभी भी प्रधानमंत्री नहीं बन सकते हैं।