भरतपुर : राजस्थान में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर भरतपुर संभाग के सवाईमाधोपुर जिले में गुर्जर आंदोलन आज तीसरे दिन भी जारी रहा। आंदोलन के तहत गुर्जरों के जिले के मलारना और निमोदा रेलवे स्टेशनों के बीच पटरी पर जमा होने से दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग अवरुद्ध है वहीं बूंदी जिले के नैनवां में भी प्रदर्शनकारियों ने सुबह राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 148 पर जाम लगा दिया जिससे मार्ग अवरुद्ध हो गया जबकि शनिवार से करौली जिले में गुडला में सड़क पर जाम लगा देने से हिंडौन-करोली मार्ग तथा उदयपुरवाटी में सड़क मार्ग अवरुद्ध कर देने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा हैं।

आंदोलन के तहत अजमेर जिले में भी गुर्जर एकत्रित होने लगे हैं और नारेली के पास देवनारायण मंदिर के पास महापंचायत बुलाई गई जहां पास से गुजर रहे हाइवे पर जाम लगाने की रणनीति बनाई जायेगी। व्यस्त्तम दिल्ली-मुंबई रेल मार्ग के अवरुद्ध होने से दर्जनों रेलगाड़ियों को मार्ग बदलकर चलाया जा रहा हैं वहीं कई रेलगाड़ियों को रद्द एवं आंशिक रद्द किया गया हैं। रेल यात्रियों की सुविधा के लिए रेलवे ने हैल्प लाईन भी जारी कर गाड़ियों के बारे में जानकारी दी जा रही हैं। आंदोलन के तहत रेल पटरी पर बैठे गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोड़ सिंह बैंसला ने फिर दोहराया है कि जब तक उन्हें आरक्षण नहीं मिल जाता हैं वे लोग पटरी पर ही डटे रहेंगे।

उन्होंने मीडिया से कहा कि शनिवार को राज्य सरकार के मंत्री बिना मसौदे के साथ उनसे बातचीत के लिए आये, इसलिए कोई नतीजा नहीं रहा। उन्होंने कहा कि इसके बाद अभी तक सरकार की तरफ से कोई संदेश नहीं मिला हैं और गुर्जर अपने हक के लिए अपनी मांग पर अड़ी हैं और जब तक हक नहीं मिल जाता वे लोग पटरी पर ही डटे रहेंगे और जो भी फैसला होगा वह यही पर होगा। उन्होंने कहा कि गुर्जरों को उनका हक दे दीजिए, बस हो गया काम, नहीं तो आर पार की लड़ाई होगी।

उन्होंने कहा कि इसे लेकर राज्य में सभी जगह आक्रोश हैं और लोग घर से बाहर निकलकर सड़क पर उतर आये हैं। उधर आंदोलन स्थल पर शनिवार को गुर्जरों से वार्ता करने गये पर्यटन एवं देवस्थान मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से आंदोलन को लेकर बातचीत की हैं और गुर्जरों के साथ अगले दौर की आज फिर बातचीत होने की संभावना हैं। आंदोलन के मद्देनजर मलारना तथा आस पास के क्षेत्रों में धारा 144 लगा रखी हैं तथा अतिरिक्त सुरक्षा बलों की तैनाती की हुई हैं वहीं राज्य में आंदोलन भड़कने की संभावित जगहों पर सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता की जा रही हैं। उल्लेखनीय हैं गुर्जर पांच प्रतिशत आरक्षण एवं चार प्रतिशत बैक लॉग भरने आदि मांगों को लेकर शुक्रवार को आंदोलन शुरु कर दिया और इसके तहत दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर पड़व डाल दिया।

गुर्जर आरक्षण को लेकर चल रहे आंदोलन के तहत भरतपुर संभाग के धौलपुर में दिल्ली-मुंबई राष्ट्रीय राजमार्ग को अवरुद्ध कर देने पर गुर्जर प्रदर्शनकारियों पर आज पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़ तथा पुलिस एवं आंदोलनकारियों के बीच पथराव हुआ। प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या तीन पर जाम लगाकर यातायात को ठप्प कर दिया, जिससे मार्ग पर दोनों तरफ वाहनों की कई किलोमीटर लंबी कतार लग गई है।

बड़ संख्या में गुर्जर समाज के लोगो ने राजमार्ग पर प्रदर्शन शुरू कर दिया। इसके बाद जाम को खुलवाने के लिए पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़ गये लेकिन आंदोलनकारियों ने पुलिस पर पथराव शुरु कर दिया। पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच पथराव होने से फिलहाल मार्ग को खुलवाया नहीं जा सका है और मौके पर तनाव बना हुआ हैं। बताया जा रहा है कि पथराव में दोनों तरफ से कई लोग चौटिल हुए हैं।