रमजान खत्म होते होते गुरुवार को जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने एक बड़ी वारदात को अंजाम दे डाला । आपको बता दे कि जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में वरिष्ठ पत्रकार एवं राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी पर आज उनके कार्यालय के बाहर अज्ञात बंदूकधारियों ने हमला किया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बुखारी शहर के केंद्र लाल चौक में प्रेस एंक्लेव स्थित अपने कार्यालय से इफ्तार पार्टी के लिए निकल रहे थे। तभी उन पर गोली चलायी गई।

अधिकारियों ने बताया कि शुजात बुखारी को अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उन्होने दम तोड़ दिया। हमले में उनके एक पीएसओ की भी मौत हुई है और दूसरा गंभीर रूप से घायल हुआ है। बुखारी पर साल 2000 में भी हमला हुआ था और तभी से उन्हें पुलिस सुरक्षा मिली हुई थी।

वही ,बताया जाता है कि हथियारों से लैस 4 हमलावरों ने उन पर हमला किया। बुखारी की मौत पर राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भी शोक जताया। मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ‘शुजात बुखारी के अचानक निधन से चौंक गई और गहरा दुख पहुंचा है। आतंक के संकट ने ईद की पूर्व संध्या पर अपना बदसूरत सिर उठाया है। मैं दृढ़ता से इस हिंसा की निंदा करती हूं और उनकी आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करती हूं। उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना।’

एक और ट्वीट में महबूबा ने कहा कि शुजात की हत्या के साथ आतंकवाद ने और नीचता दिखाई है। वह भी ईद की पूर्व संध्या पर। शांति बहाल करने के हमारे प्रयासों को कमजोर करने के लिए हमें इन ताकतों के खिलाफ एकजुट होना चाहिए। न्याय किया जाएगा।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।