भाजपा की युवा शाखा के सदस्यों द्वारा कांग्रेसी नेता शशि थरूर के यहां स्थित कार्यालय की दीवार को विरूपित किए जाने के कुछ दिन बाद, उन्होंने सवाल किया है कि क्या “हिन्दुवाद का तालिबानीकरण” शुरू हो गया है। बता दें कि शशि थरूर ने हाल में यह टिप्पणी करके बड़ा विवाद पैदा कर दिया था कि अगर भाजपा फिर से सत्ता में आई तो वह संविधान को फिर से लिखेगी और ‘हिन्दू पाकिस्तान’ बनाने का रास्ता तैयार करेगी।

तिरूवनंतपुरम से कांग्रेसी सांसद ने कल केन्द्र द्वारा राज्य को कथित रूप से नजरअंदाज करने के खिलाफ आयोजित विरोध प्रदर्शन में केरल के विपक्षी यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) के कार्यकर्ताओं से कहा, “वे मुझसे पाकिस्तान जाने के लिये कह रहे हैं। यह फैसला करने का अधिकार उन्हें किसने दिया कि मैं उनके जैसा हिन्दू नहीं हूं, इसलिये मैं भारत में नहीं रह सकता ?”

उन्होंने कहा, “हिन्दू राष्ट्र की भाजपा की बात वास्तव में बहुत खतरनाक है और यह इस देश को तोड़ देगी। क्या हिन्दूवाद का तालिबानीकरण शुरू हो गया है ?” भाजपा की युवा शाखा भारतीय जनता युवा मोर्चा के सदस्यों ने सोमवार को थरूर के कार्यालय को विरूपित करते हुये उनकी ‘हिन्दू पाकिस्तान’ संबंधी टिप्पणी के लिये माफी की मांग की थी।

कांग्रेस ने उनकी टिप्पणियों से खुद को अलग किया था और अपने नेताओं को शब्दों के चयन के वक्त सतर्क रहने को कहा था। शशि थरूर के कार्यालय में तोड़फोड़ की घटना के संबंध में भाजयुमो के पांच कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया था और उन्हें जमानत पर कल रिहा किया गया।