पिछले कुछ दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश के चलते सिक्किम और दार्जिलिंग में कई स्थानों पर भूस्खलन हुआ। इसके चलते कई स्थानों पर सड़क संपर्क टूट गया है।

अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि उत्तर जिले में द्जोंगू, मंगन, लाचेन और मंगशिला में भूस्खलन हुआ और सिलिगुड़ी शहर से करीब 22 किलोमीटर दूर सेवोक के नजदीक दो स्थानों में भी भूस्खलन हुआ।

अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार को तड़के करीब तीन बजे 29वें माइल और 10वें माइल क्षेत्र में दो स्थानों पर भूस्खलन हुआ। सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने दो स्थानों से छोटी कारों के जरिये आवागमन का इंतजाम किया है, लेकिन बड़े वाहनों का रास्ता बाधित है।

जापान : भीषण भूंकप, भूस्खलन के बाद अब जीवित बचे लोगों को बचाने की जद्दोजहद

अम्बिथांग में भूस्खलन के चलते उत्तरी सिक्किम जिले के मुख्यालय मंगन का संपर्क गंगटोक से टूट गया है। राफोंग खेला में एक पुल बह जाने के बाद मंगन और चुंगथांग को जोड़ने वाली सड़क भी टूट गयी है।

अम्बिथांग झरना उफान पर है जिससे पुलियों और तूंग के समीप नवनिर्मित बैली पुल भी क्षतिग्रस्त हो गया है। द्जोंगु में कई स्थानों पर भूस्खलन से सड़क नेटवर्क भी प्रभावित हुआ है। मंताम झील के समीप भूस्खलन के कारण ऊपरी द्जोंगु के सारे इलाकों का संपर्क शेष इलाकों से टूट गया है। जिले में बारिश और कई स्थानों पर भूस्खलन से करीब 50 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।

राफोंग झोरा के समीप कई मकान लोगों के रहने लायक नहीं बचे हैं और उन मकानों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने के निर्देश दिए गए हैं।

जिला कलेक्टर कर्मा आर बोन्पो ने मंगन और द्जोंगु उपमंडलों के उप मंडल अधिकारियों, वरिष्ठ पुलिस और परिवहन अधिकारियों के साथ शुक्रवार को मंगन, मंगशिला, द्जोंगु के प्रभावित इलाकों में स्थिति का आकलन किया। उत्तरी जिले में स्कूलों को शनिवार को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं ताकि छात्रों की सुरक्षा सुनिश्चित की जा सके।

सीमा सड़क संगठन जिले में सड़क नेटवर्क बहाल करने के लिए काम कर रहा है। अधिकारी ने बताया कि प्रभावित लोगों को नियमों के अनुसार राहत और अनुग्रह राशि दी जाएगी। उत्तर सिक्किम में भारी बारिश के कारण सिंगतम और रांगपो जैसे निचले इलाकों में जलस्तर बढ़ने की आशंका के कारण नागरिक सुरक्षा एजेंसियों, स्वयंसेवकों और जनता को सतर्क कर दिया गया है।