सिसोदिया-जैन को अस्पताल से मिली छुट्टी, केजरीवाल का धरना जारी


manish sisodia

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को आज एलएनजेपी अस्पताल से छुट्टी मिल गई। दोनों मंत्री उप राज्यपाल कार्यालय में अनशन पर बैठे थे और सेहत खराब होने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। मूत्र में कीटोन का स्तर तेजी से बढ़ने और रक्त शर्करा का स्तर घटने के बाद सिसोदिया को कल दोपहर करीब तीन बजे एलएनजेपी अस्पताल ले जाया गया। जबकि जैन की सेहत खराब होने के बाद उन्हें रविवार रात एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

एलएनजेपी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक जेसी पासे ने बताया, “दोनों ही मंत्रियों को सुबह करीब 10 बजे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उनके स्वास्थ्य मानक जैसे कि मूत्र में कीटोन का स्तर, अब सामान्य हैं।” आज सुबह सिसोदिया ने ट्वीट किया था कि उनकी सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है और वह आज से कामकाज शुरू करने का प्रयास करेंगे।

 उन्होंने आज ट्विटर पर लिखा , “सुप्रभात !! चिकित्सकों की देखरेख और आपके आशीर्वाद से मेरी सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है। कल मेरा कीटोन स्तर 7.4 था और रक्तचाप 184/100 तक पहुंच गया था। इससे किडनी पर असर पड़ सकता था। लेकिन अब सबकुछ नियंत्रण में है। यदि चिकित्सक अनुमति देंगे तो मैं आज से ही काम पर लौट आऊंगा।”

शनिवार को चिकित्सकों के दल ने सिसोदिया और जैन की जांच की। जैन पिछले मंगलवार से उप राज्यपाल कार्यालय में आमरण अनशन पर थे जबकि सिसोदिया ने अनशन बुधवार से शुरू किया था। अरविंद केजरीवाल अपने सहयोगियों के साथ 13 जून से उप राज्यपाल अनिल बैजल के कार्यालय में धरने पर बैठे हैं। वह बैजल से आईएएस अधिकारियों को हड़ताल (आप के मुताबिक) खत्म करने का निर्देश देने और राशन को घर-घर पहुंचाने की योजना को मंजूरी देने की मांग कर रहे हैं।

अधिक जानकारियों के लिए यहां क्लिक करें।