समाजवादी पार्टी का पा‌रिवा‌रिक कलह थमने का नाम नहीं ले रहा है ये  झग़ड़ा ‌एक बार फिर सामने आ गया जब मुलायम सिंह यादव के बाद उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव शनिवार को समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष शिवपाल यादव के साथ नजर आईं। उन्होंने राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में चाचा शिवपाल के साथ मंच भी साझा किया। इससे उत्तर प्रदेश की सियासत में सरगर्मी बढ़ गई है। बहरहाल, अपर्णा यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को मजबूत बनाने का आह्वान किया है। उन्होंने उम्मीद जताई कि समाजवादी सेक्युलर मोर्चा आगे बढ़ेगा और वह चाचा के साथ खड़ी होंगी।

 

शिवपाल यादव शनिवार को लखनऊ में राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे और अपर्णा यादव भी इसी कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि आई थीं। दोनों का साथ आना और एक साथ बैठना महज इत्तेफाक नहीं बल्कि चाचा की बदली हुई नई सियासत का नमूना था जब दो दिनों में शिवपाल यादव ने परिवार के दो धुरंधरों को अपने पाले में खड़ा कर लिया है।

उत्तर प्रदेश की सियासत में हलचल तेज है। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बाद उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव आज समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संयोजक शिवपाल सिंह यादव के साथ मंच पर थीं। इस दौरान अपर्णा यादव ने चाचा के अभियान को जमकर सराहा।

अपर्णा यादव ने कहा, ‘मैं चाहती हूं कि सेक्युलर मोर्चा आगे बढ़े. माननीय चाचा जी हमारे चहेते नेता हैं। नेताजी के बाद मैंने इन्हीं को सबसे ज्यादा माना है। मैं चाहती हूं कि सेक्युलर मोर्चा आगे बढे।’ अपर्णा ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि चुनाव में अच्छे लोगों को चुनकर लाइए। उन्होंने कहा, ‘आज भारत में किसान मर रहा है, जवान मर रहा है । अगर हमें अपने बेटों को ऐसे ही शहीद करना है तो इससे अच्छा है कि खड़ा करके उनको गोली मार दें।’

अपर्णा यादव से जब पूछा गया कि आप किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगी, इस पर उन्होंने कहा कि ये चाचा (शिवपाल) बताएंगे। अपर्णा यादव ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आप एक अच्छा नेता चुन कर लाएं। हम समाजवादी सेकुलर मोर्चा के लिए प्रचार करेंगे।’

वहीं शिवपाल यादव ने कहा, ‘हम अपनी पार्टी के साथ छोटे दालों को जोड़ कर कुछ बहेतर करने जा रहे हैं। सामान विचारधारा के लोग एक साथ आयेंगे. किसानों, नौजवानों और मुस्लिमों की जो समस्या होगी उसको दूर करने का काम हमारी पार्टी करेगी। उन्होंने कहा आगमी लोकसभा चुनाव में हमारा सीधा मुकाबला भारतीय जनता पार्टी से होगा।