2007 में एक अगस्‍ता वेस्‍टलैंड हेलीकॉप्‍टर खरीदने के मामले में सु्प्रीम कोर्ट ने छत्‍तीसगढ़ की रमन सरकार को बड़ी राहत दी है। सुप्रीम कोर्ट ने स्वराज अभियान की याचिका खारिज कर दी है जिसमें उसने घोटाले के आरोपों की SIT से जांच कराने की मांग की थी। कोर्ट ने कहा हमें कोई ऐसा आधार नहीं मिला, जिससे याचिकाकर्ता को कोई राहत दी जा सके। याचिका में कहा गया था कि इस खरीद के लिए घूस दी गई और 30 % कमीशन दिया गया। याचिका में कहा गया कि मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे अभिषेक सिंह भी इस विवाद से जुड़े हैं क्योंकि 6.3 मिलियन डॉलर के हेलीकॉप्टर खरीदने के 6 महीने बाद उन्होंने एक शेल कंपनी बनाई।

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने खरीद में कथित अनियमितताओं और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे से जुड़े खातों की जांच की मांग पर अपना फैसला सुरक्षित रखा था। सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ सरकार से तीखा सवाल किया था। शीर्ष अदालत में दायर याचिका में इस मामले की जांच कराने की मांग की गई थी। वहीं राज्य की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता महेश जेठमलानी से पीठ ने पूछा, ‘अभिषेक सिंह जो राज्य के मुख्यमंत्री के बेटे भी हैं, उनकी इसमें रुचि क्यों थी? आपको हमें इस बारे में संतुष्ट करना है।’ जेठमलानी ने कहा कि आरोप निराधार कटाक्ष हैं। इस तरह के दावों के पक्ष में कोई पर्याप्त प्रमाण नहीं है।

याचिका में ये सभी बेबुनियाद आरोप हैं। इसके बाद बेंच ने NGO स्वराज अभियान एवं अन्य की ओर से दायर याचिका पर फैसला सुरक्षित रख लिया। याचिकाकर्ताओं ने हेलीकॉप्टर खरीद में कथित अनियमितता की जांच कराने की मांग की थी। याचिककर्ता की ओर से पेश प्रशांत भूषण ने आरोप लगाया कि छत्तीसगढ़ सरकार ने इतालवी कंपनी अगस्ता-वेस्टलैंड से तय कीमत से ज़्यादा पैसे देकर हेलीकॉप्टर खरीदा और इसके लिए काग़ज़ात इस तरह से तैयार किए गए थे कि अगस्ता-वेस्टलैंड के अलावा कोई दूसरी कंपनी इस प्रक्रिया में शामिल ही नहीं हो पाए।

याचिका में राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, पंजाब और झारखंड में भी अगस्ता हेलीकॉप्टर खरीद से जुड़े दस्तावेज़ पेश किए गए। इसके साथ ही आरोप लगाया गया कि राज्य सरकार ने इसके लिए करोडों रुपये कमीशन दिया। पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की गई है। दरअसल स्वराज अभियान ने जनहित याचिका दायर कर आरोप लगाया हैं कि छत्तीसगढ, राजस्थान, जम्मू-कश्मीर, पंजाब और झारखंड में भी अगस्ता हेलिकॉप्टर खरीद की घोटाला किया गया है।

अन्य विशेष खबरों के लिए पढ़िये पंजाब केसरी की अन्य रिपोर्ट।