पत्र सूचना कार्यालय (PIB) का आधिकारिक यूट्यूब अकाउंट जून 16 से ब्लॉक हो गया है। जिसके कारण पीआईबी के सामने मुसीबत खड़ी हो गई है क्योंकि वह इस चैनल के जरिए लाइव टेलिकास्ट के साथ ही प्रेस कॉन्फ्रेंस और दूसरे कार्यक्रमों का ऑनलाइन प्रसारण करता है। आपको बता दे कि दूसरे इवेंट्स भी चैनल पर लाइव किए जाते थे। खास बात यह है कि यूट्यूब चैनल ऐसे समय में ब्लॉक किया गया है जब केंद्र सरकार के चार पूरे होने के दौरान केंद्रीय मंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे हैं। सरकारी उपलब्धियां जनता तक पहुंचा रहे हैं।

यूट्यूब पर पीआईबी के करीब 1.5 लाख सब्सक्राइबर है। चैनल पर 3,500 से ज्यादा वीडियो को अबतक अपलोड किया जा चुका है। साल 2011 में चैनल की शुरुआत होने के बाद से इसके वीडियो को करीब डेढ़ करोड़ बार देखा जा चुका है। हालांकि अब चैनल पर कोई भी वीडियो अपलोड नहीं किया जा सकता है और ना ही प्रेस कॉन्फ्रेंस का लाइव की जा सकती है। यहां तक पूराने वीडियो को भी अब नहीं देखा जा सकता है।

पीआईबी में मौजूद सूत्रों का कहना है कि उन्हें तकनीकी खामी का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि दर्शक हमारे मौजूदा कंटेंट को देखने में असमर्थ हैं। उनका कहना है कि इस मामले में उन्होंने यूट्यूब इंडिया को बता दिया है और वह इस परेशानी को दूर करने की कोशिश कर रहे हैं। सूत्रों का कहना है कि इसी तरह की परेशानी दुनिया के अन्य हिस्सों में मौजूद कई प्रतिष्ठित संस्थानों को भी झेलनी पड़ रही है।

भारत में इस बात की जानकारी उस समय मिली, जब 19 जून पीयूष गोयल एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आए और उसका प्रसारण यूट्यूब चैनल पर नहीं हुआ।

24X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।