विपक्षी राजनीतिक दलों के अपने प्रस्तावित संघीय मोर्चे की जमीन तैयार करते हुए तृणमूल कांग्रेस की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शनिवार को पार्टी कार्यकर्ताओं से सांप्रदायिक भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को हराने के लिए एक अगस्त से 15 दिवसीय अभियान चलाने को कहा है।

उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी अगले साल 19 जनवरी को शहर में विशाल जनसभा आयोजित करेगी, जहां प्रस्तावित मोर्चे के नेता भाजपा को केंद्र से हटाने का आवाह्न करेंगे। पार्टी के शहीद दिवस पर कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘बंगाल देश का मार्गदर्शन करेगा, आने वाले दिनों में हम संसद का रास्ता बताएंगे।’

ममता ने भाजपा को हटाने का आह्वान किया

 Mamata Banerjee

बनर्जी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘अगस्त का अभियान ‘सांप्रदायिक भाजपा हटाओ, देश बचाओ’ उनकी पार्टी का राजनीतिक कार्यक्रम तय करेगा। 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस) पर आप सभी को तिरंगा फहराकर यह कसम खानी है कि 2019 से भाजपा का कोई नेता लाल किले पर तिरंगा न फहरा सके।’

उन्होंने तृणमूल कार्यकर्ताओं से अगले आम चुनाव में राज्य की सभी 42 लोकसभा सीटों पर जीत हासिल करने के लिए काम करने की अपील की। बनर्जी ने कहा कि 19 जनवरी को होने वाली जनसभा ब्रिगेड परेड ग्राउंड में होगी। उन्होंने कहा कि वे यहीं से अगले साल होने वाले आम चुनाव में केंद्र की सत्ता हासिल करने का आह्वान करेंगी।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने कहा, ‘मैं इस मंच पर संघीय मोर्चे सहित देश भर के नेताओं को लेकर आऊंगी। हम बड़े स्तर पर रैली आयोजित करेंगे.. हमारे कार्यकर्ताओं को उस दिन आज से भी ज्यादा सफल रैली करनी होगी।’

इससे पहले भी अपने राष्ट्रीय लक्ष्यों को स्पष्ट कर चुकीं तृणमूल प्रमुख ने कहा, ‘हमें कुर्सी (सर्वश्रेष्ठ पद) इतनी पसंद नहीं है, हम कुर्सी की चिंता नहीं करते, लेकिन हम देश, जनता और यहां की मिट्टी की चिंता करते हैं।’