त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने आज भाजपा और आईपीएफटी पर हमला बोलते हुए कहा कि समाज में दरार पैदा कर चुनावी राज्य में सत्ता में आने की एक संगठित कोशिश की जा रही। त्रिपुरा विधानसभा के लिए 18 फरवरी को चुनाव होने वाला है। विधानसभा में कुल 60 सीटें हैं।

भाजपा -आईपीएफटी गठबंधन माकपा नीत वाम मोर्चा की मुख्य प्रतिद्वंद्वी बन कर उभरा है। राज्य में वाम मोर्चा का पिछले 25 साल से शासन है। यहां एक चुनाव रैली में मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि समाज में दरार पैदा कर राज्य में सत्ता में आने की संगठित कोशिश की जा रही। उन्होंने आईपीएफटी पर आतंकवादियों से गुप्त संपर्क रखने का आरोप लगाया।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।