BREAKING NEWS

राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾

Top News

खून की नदियां' जैसे बयान से किसे चुनौती दे रहा विपक्ष : अमित शाह

नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी ने विपक्ष के लोकसभा चुनाव परिणाम अनुकूल नहीं आने पर ‘हथियार उठाने’ और ‘खून की नदिया बहने’ जैसे बयान देने पर आज सवाल किया कि ऐसे हिंसात्मक और अलोकतांत्रिक बयान से किसे चुनौती दी जा रही है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बुधबार को ट्वीट किया कि इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) का विरोध देश की जनता के जनादेश का अनादर है।

हार से बौखलाई 22 विपक्षी पार्टियां देश की लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर सवालिया निशान उठा कर विश्व में देश और लोकतंत्र की छवि धूमिल कर रही है।

वीवीपैट पर्चियों की गिनती की मांग किस आधार पर खारिज की गई : कांग्रेस

उन्होंने कहा कि ईवीएम पर विपक्ष द्वारा उठाए जा रहे प्रश्न सिर्फ भ्रान्ति फैलाने का प्रयास है, जिससे प्रभावित हुए बिना हम सभी को लोकतांत्रिक संस्थानों को और मजबूत करने का प्रयास करना चाहिए। ईवीएम में गड़बड़ी के विषय पर ‘प्रोएक्टिव’ कदम उठाते हुए चुनाव आयोग ने सार्वजनिक रूप से ऐसा कर दिखाने का आमंत्रण दिया था लेकिन उस चुनौती को किसी भी विपक्षी दल ने स्वीकार नहीं किया था।