BREAKING NEWS

NCP ने ली भाजपा की चुटकी, कहा- 'शरद पवार ने राजनीति के चाणक्य को दी मात'◾महाराष्ट्र : सरकार गठन को लेकर मुंबई में शाम 4 बजे होगी शिवसेना, NCP और कांग्रेस की बैठक◾संसद परिसर में कांग्रेस ने 'Electoral Bond' के खिलाफ किया प्रदर्शन◾गठबंधन पर संजय निरुपम तंज, कहा- 'तीन तिगाड़े काम बिगाड़े' वाली सरकार चलेगी कब तक?◾महाराष्ट्र में 5 साल के लिए शिवसेना का ही होगा मुख्यमंत्री : संजय राउत◾इजराइल के PM बेंजामिन नेतन्याहू पर भ्रष्टाचार, धोखाधड़ी और विश्वासघात मामले में आरोप तय◾सत्यपाल मलिक बोले- अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर में केवट-शबरी की भी हों मूर्तियां, ट्रस्ट को लिखूंगा चिट्ठी◾झारखंड चुनाव: भाजपा के 'बागी' सरयू राय के बहाने नीतीश ने 'तीर' से साधे कई निशाने◾अयोध्या विवाद पर आए फैसले पर दूसरे देशों से संवाद बहुत सफल रहा : विदेश मंत्रालय◾झारखंड विधानसभा चुनाव : दूसरे चरण में 20 विधानसभा सीटों पर 260 प्रत्याशी आजमाएंगे किस्मत◾उद्धव ठाकरे और आदित्य ने मुंबई में शरद पवार से की मुलाकात ◾सोनिया ने शिवसेना संग गठबंधन के लिए सीडब्ल्यूसी का सुरक्षित रास्ता चुना ◾श्रीलंका की नई सरकार के साथ करीब से मिलकर काम करने को तैयार : भारत◾महाराष्ट्र में गठबंधन सरकार के गठन के आसार बढे , शुक्रवार को हो सकती है इस बारे में घोषणा◾चुनावी बांड से चुनावी राजनीति में साफ धन आया : भाजपा ◾SPG सुरक्षा हटाए जाने पर बोलीं प्रियंका - यह राजनीति है ◾सेना ने मुख्यमंत्री पद के लिए नए नाम सुझाए, राकांपा ने उद्धव पर दिया जोर◾ED ने कश्मीर में आतंकवादियों से संबंधित छह संपत्तियां जब्त की ◾प्रदूषण पर राज्यसभा में भाजपा और आप में तकरार, केंद्र ने कहा ‘अच्छे’ दिन बढे◾केजरीवाल के दबाव में केंद्र ने अनधिकृत कॉलोनियों के निवासियों को दिया मालिकाना हक : आप◾

Uncategorized

अरुण जेटली हैं सॉफ्ट टिशू कैंसर से ग्रसित, जानिए इस बीमारी के बारे में

 hyedrtg

इस वक्त केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली का स्वास्थ ठीक न होने को लेकर मीडिया में कई तरह-तरह की खबरें सामने आ रही हैं। जिसे पीआईबी के प्रधान महानिदेशक और केंद्र सरकार के प्रवक्ता ने पूरी तरह से गलत बता दिया है। वैसे सूत्रों की मानें तो जेटली काफी ज्यादा कमजोर हो गए हैं। इतना ही नहीं पिछले हफ्तेही जेटली को एम्स में भी भर्ती कराया गया था जहां उनकी जांच हुई और उनका इलाज किया गया। 

अरूण जेटली किडनी के अलावा भी सॉफ्ट टिशू कैंसर से पीडि़त हैं

अरूण जेटली का पिछले साल मई में किडनी प्रत्यारोपण हुआ था। अब किडनी संबंधी बीमारी से ग्रसित जेटली कैंसर से भी जूझ रहे हैं। उनके बाएं पैर में सॉफ्ट टिशू कैंसर हो गया है जिसकी सर्जरी करने के लिए जेटली इस साल जनवरी में अमेरिका भी गए थे। फिलहाल वह कीमो के दौर से बाहर आने की कोशिश कर रहे हैं। तो आइए आपको बताते हैं कि आखिरकार क्या हैं ये सॉफ्ट टिशू कैंसर...

सभी सॉफ्ट टिशू कैंसरस नहीं होते हैं

बता दें कि वैसे तो हम सभी की बॉडी में कई तरह के सॉफ्ट टिशू ट्यूमर पाए जाते हैं,लेकिन सभी कैंसरस नहीं होते हैं। सॉफ्ट टिशू में कई मामूली से ट्यूमर भी होते हैं। जिसका मतलब कैंसर नहीं होता है और वह शरीर के दूसरे हिस्सों में भी नहीं फैल सकते हैं। लेकिन इस बीमारी के साथ जब सार्कोमा शब्द जुड़ जाता है तो इसका अर्थ होता है कि उस ट्यूमर में कैंसर धीरे-धीरे विकसित हो रहा है जो कि घातक है। 

सार्कोमा  हाथ या पैर की हड्डी या मसल्स में शुरू होता है 

एक तरह का कैंसर ही होता है सार्कोमा। जिसकी शुरूआत हड्डी या फिर मांसपेशियों के टिशू से होती है।  सॉफ्ट टिशू और बोन सार्कोमा मुख्य तरह का सार्कोमा होता है। सॉफ्ट टिशू सार्कोमा,फैट,मसल्स,नव्र्स,फाइबर टिश्यू,रक्त धमनियां या फिर डीप स्किन टिशू में पैदा होता है। वैसे देखा जाए तो ये शरीर के किसी भी हिस्से में पाए जा सकते हैं लेकिन सबसे पहले सॉफ्ट टिशू कैंसर की शुरूआत हाथ या फिर पैरों से ही होती है। सॉफ्ट टिशू सार्कोमा 50 से भी ज्यादा अलग-अलग तरीके का होता है। 

कुछ सामान्य लक्षण

-बॉडी में किसी भी हिस्से में कोई नई गांठ हो रही हो या फिर कोई पुरानी गांठ जो बढ़ रही हो।

-पेट का दर्द जो हर दिन बढ़ता जा रहा हो। 

-स्टूल या वॉमिटिंग के दौरान खूना आ रहा हो।