BREAKING NEWS

राष्ट्रपति कोविंद और PM मोदी ने गुरु नानक जयंती की दी शुभकामनाएं◾भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾

Uncategorized

इस वजह से चुनाव के मैदान में शत्रुघ्न सिन्हा हार गए थे राजेश खन्ना के साथ अपनी दोस्ती

बॉलीवुड में कई सारी दोस्ती की मिसालें आज भी दी जाती हैं। दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र और शत्रुघ्न सिन्हा के साथ अमिताभ बच्चन की दोस्ती से तो पूरी दुनिया ही वाकिफ है। बता दें कि एक जमाने में शत्रुघ्न सिन्हा और राजेश खन्ना भी बहुत करीबी दोस्त हुआ करते थे। दोनों की दोस्ती की मिसाल लोग हर किसी को दिया करते थे। फिल्म आज का एमएलए रामअवतार से दोनों की दोस्ती की शुरूआत हुई थी। लेकिन उन दोनों के बीच एक ऐसा भी समय आ गया था जब दोनों की दोस्ती खत्म हो गई थी।

 

लालकृष्ण आडवाणी साल 1991 में आमचुनावों में गुजरात के गांधीनगर और दिल्ली इन दोनों सीटों से चुनाव जीते थे। उस समय दिल्ली की सीट से आडवाणी ने इस्तीफा दे दिया था। जिसके बाद साल 1992 में दिल्ली की इस सीट पर दोबारा से उपचुनाव हुए थे।

इस सीट के लिए भाजपा ने आडवाणी के कहने पर शत्रुघ्न सिन्हा को टिकट दिया था तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस ने इस सीट के लिए सुपरस्टार राजेश खन्ना को मैदान में उतारा था। इस दौरान दिल्ली के चुनावी मैदान में दोनों सितारों के फिल्मी डॉयलॉग गूंजने शुरू हो गए थे। उसी दौरान शत्रुघ्न सिन्हा ने एक ऐसी बात बोल दी थी जिसके बाद राजेश खन्ना ने उनसे फिर कभी बात नहीं की थी।

चुनावी कैम्पेन के दौरान शत्रुघ्न ने राजेश खन्ना को मदारी कहा था

शत्रुघ्न सिन्हा ने इस चुनावी कैम्पेन में राजेश खन्ना को मदारी कह दिया था। उसके बाद राजेश खन्ना ने शत्रुघ्न सिन्हा को जवाब 25 हजार से भी ज्यादा वोट जीत कर दिया था। इस चुनाव में राजेश खन्ना को 52.51 प्रतिशत वोट यानी 101,625 मिले थे। तो वहीं शत्रुघ्न सिन्हा को इस चुनाव में महज 37.91 प्रतिशत ही वोट यानी 73369 वोट ही मिले थे।

यह चुनाव तो राजेश खन्ना जीत गए थे लेकिन वह पूरी जिंदगी शत्रुघ्न सिन्हा का मदारी कहना नहीं भूल पाए थे। हालांकि शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी इस हरकत के लिए राजेश खन्ना से माफी भी मांगी थी लेकिन राजेश खन्ना ने उन्हें मांफ नहीं किया और मरते दम तक शत्रु से शत्रुता निभाई थी।

शत्रुघ्न सिन्हा ने इस घटना के बारे में अपनी किताब एनीथिंग बट खामोश में भी बताया है। शत्रुघ्न सिन्हा ने अपनी किताब में लिखा है कि उस चुनाव में हारना मेरे लिए निराशा के दुर्लभ क्षणों में से एक था। उन्होंने अपनी किताब में आगे लिखा कि वह पहला मौका था, जब मैं रोया था। राजेश खन्ना से इस बात के लिए माफी भी मांगी थी लेकिन राजेश खन्ना ने उनसे कभी भी बात नहीं की। मुझे इस वजह से भी निराशा हुई कि आडवाणी जी मेरे लिए एक दिन भी चुनाव प्रचार करने नहीं आए।

बिग बी ने श्वेता को रैंप वॉक करते हुए बजाई सीटी, खुद करने लगे फोटोग्राफी