तमिलनाडु मे बसों की हड़ताल


आज तमिलनाडु की सड़को पर रोज माररा चलने वाली यात्री बसे गायब रही | जिसका कारण सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वालों लाभों और अन्य मुद्दों को लेकर दबाव बनाने के लिए परिवहन संघों द्वारा अनिश्चितकालीन राज्यव्यापी बसों की  हे | इस हड़ताल की वजह से राज्य के विभिन्न हिस्सों में यात्रियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ा। राजधानी समेत राज्य के कई इलाको  में स्टेट  परिवहन की ज्यादातर  बसें कल से ही सड़कों से गायब रहीं। सरकार का कहना है कि वह बातचीत के लिए तैयार है साथ ही इस निश्चितकालीन  हड़ताल को ख़त्म करने की पूरी कोशिश कर रहे है | इस पुरे मामले पैर राज्ये परिवहन मंत्री एम.आर. विजयभास्कर ने कहा कि सरकार के समर्थन में 37 संघ हैं। हड़ताल में कुल 10 अन्य संघों ने हिस्सा लिया है, जिनमें द्रमुक और वाम दल के कुछ लोग शामिल है | उन्होंने यह भी कहा की बसों चलना के लिए हमारे पास पूर्ण संख्या में बसे मौजूद हे | इस हड़ताल से निपटने के लिए सरकार ने 2000 से ज्यादा निजी वाहनों को लगाया गया हे जिससे राज्ये के यात्रियो को आने जाने मै किसी प्रकार की दिक्क्त का सामना ना करना पड़े  | उन्होंने कहा कि सड़कों पर बसों को पुलिस सुरक्षा दी जा रही है और हमारी सरकार  परिवहन संघों से बातचीत के लिए तैयार हैं |