BREAKING NEWS

छत्तीसगढ़: कोयला लेवी घोटाले केस में ED ने पूरक आरोपपत्र दाखिल किया◾नफरत और दुर्व्यवहार के कारण पाकिस्तान टीम को कभी कोचिंग देने के बारे में नहीं सोचा: वसीम अकरम◾राहुल गांधी बोले- ‘मित्रकाल बजट’ से साबित हुआ कि सरकार के पास भविष्य के निर्माण की कोई रूपरेखा नहीं◾Peshawar Mosque Attack: आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई तेज, 17 संदिग्ध गिरफ्तार◾दिल्ली: LG सक्सेना ने 6 फरवरी को मेयर चुनने के लिए MCD सदन का सत्र बुलाने को मंजूरी दी ◾एयर मार्शल एपी सिंह ने भारतीय वायुसेना के उप प्रमुख का पद संभाला◾UP News: मुजफ्फरनगर में तीन वर्ष की बच्‍ची से दुष्कर्म और हत्या के दोषी को फांसी की सजा◾Britain: वेतन बढ़ाने की मांग को लेकर शिक्षकों व सार्वजनिक क्षेत्र के कर्मचारियों की हड़ताल◾चाहे कितनी भी हो आमदनी इन देशों में नहीं देना पड़ता टैक्स◾खाने को मौैहताज पाकिस्तान में गाड़ी की बड़ी कीमतें 26 लाख की हुई वैगनर , तीन लाख की स्पलेंडर ◾PM नरेंद्र मोदी ने कहा- बजट विकसित भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा◾मल्लिकार्जुन खड़गे बोले- भाजपा पर जनता के लगातार गिरते विश्वास का सबूत है यह बजट◾Noida suicide : डीपीएस स्कूल की टीचर ने सातवीं मंजिल से कूदकर दी जान, जांच में जुटी पुलिस ◾पश्चिम बंगाल : मुख्यमंत्री ममता ने केंद्रीय बजट को बताया जनविरोधी, कहा- गरीबों को अनदेखा किया◾बसपा सुप्रीमो ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, बोलीं- बजट पार्टी से ज्यादा देश के लिए हो तो बेहतर है◾बजट पर केजरीवाल बोले- 1.75 लाख करोड़ आयकर देने के बावजूद दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये मिले ◾आम बजट अमृतकाल की मजबूत आधारशिला रखने वाला: अमित शाह◾पूर्व फुटबॉलर परिमल डे का निधन, लंबे समय से थे बीमार ◾मुख्तार अब्बास नकवी बोले- यह बजट देश के सर्वस्पर्शी सशक्तिकरण का गजट है◾सरकारी जमीन पर कब्जा जमाए बैठे लोगों पर सुप्रीम कोर्ट ने लिया एक्शन ◾

बारिश के कारण पीलीभीत में बाढ़ का कहर: सेना ने संभाला मोर्चा

देश के कई राज्यों में भारी बारिश से तबाही का मंजर देखने को मिल रहा है। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और केरल में स्थिति भयावह है।  उत्तर प्रदेश के पीलीभीत और लखीमपुर खीरी में हालात इतने बिगड़ गये की सेना को राहत बचाव अभियान चलाना पड़ा। अचानक आयी बाढ़ से लोग त्रस्त हो गये। पीलीभीत जिले में पिछले दो दिनों से लगातार हो रही मूसलाधार बारिश और बांधों से छोड़े गए पानी ने भारी तबाही मचायी है। जिले में शारदा और देवहा नदियों के उफान के कारण कई गांव बाढ़ की चपेट में हैं। बाढ़ की भयावह स्थिति में फंसे लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए प्रशासन को सेना की मदद लेनी पड़ी। 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के क्षेत्रीय सांसद वरुण गांधी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर बाढ़ के कारण फसलों को हुए नुकसान का मुआवजा किसानों को देने की मांग की है। पीलीभीत के जिलाधिकारी पुलकित खरे ने बुधवार को बताया कि पिछले दो दिन में हुई बेमौसम बारिश के कारण शारदा और देवहा नदियों ने रौद्र रूप ले लिया है और इनके किनारे बसे कई गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। उन्होंने बताया कि बाढ़ में फंसे लोगों को सुरक्षित जगहों पर ले जाने के लिए सेना की मदद ली जा रही है और उसने अब तक बाढ़ में जगह-जगह फंसे 26 लोगों को हेलीकॉप्टर से सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। जिले के शारदा पुनहाना, गुनहा, गोरख डिब्बी और पलिया में करीब 500 ग्रामीणों के बाढ़ में फंसे होने की सूचना है। 

खरे ने बताया कि मंगलवार को पीलीभीत पीएसी फ्लड यूनिट के जवानों ने इन ग्रामीणों को नाव की मदद से सुरक्षित निकालने के प्रयास किया था मगर शारदा के भीषण उफान के कारण अभियान टालना पड़ा था। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने उन्हें हेलीकॉप्टर की मदद से निकालने की योजना बनायी और रात ही में सेना को सूचित किया गया और बरेली से आयी सैन्य टुकड़ी ने आज सुबह ही बचाव अभियान शुरू कर दिया। सेना के कुछ जवानों ने संवाददाताओं को बताया कि शारदा पार के गांव में लगभग 500 ग्रामीण बाढ़ में फंसे हुए हैं और उन्हें सुरक्षित निकालने में वक्त लगेगा। 

वहीं, पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी. पूरी रात माधो टांडा थाने की रामनगर चौकी पर मौजूद रहे। जिला अधिकारी पुलकित खरे और अपर आयुक्त (प्रशासन) अरुण कुमार भी देर रात तक वहां मौजूद रहे। नानक सागर और डियूनि बांध से पानी छोड़े जाने से देवहा नदी उफान पर है। उसका पानी भी शहर में घुस चुका है। बेनी चौधरी सहित निचले इलाकों में लोग छतों पर रहने को मजबूर हैं। शहर में बरेली मार्ग को जोड़ने वाले ईदगाह मार्ग पर देवहा नदी का पानी घुस गया है। पुलिस ने रेलवे क्रॉसिंग पर अवरोधक लगाकर इस मार्ग को बंद कर दिया है। तीन दिन हुई बारिश से नानक सागर बांध पूरी तरह भर गया था। मंगलवार सुबह इस बांध का पानी छोड़ दिया गया उसके बाद ड्यूनि बांध के भी सारे गेट खोल दिए गए। इससे देवहा नदी में बाढ़ आ गई है। 

स्थानीय सांसद वरुण गांधी के प्रवक्ता एम. आर. मलिक ने बताया कि वरुण ने मुख्यमंत्री से जिले में बाढ़ के कारण बर्बाद हुई फसल का मुआवजा किसानों को दिलाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि वरुण बृहस्पतिवार को पीलीभीत पहुंचकर बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा करेंगे।