BREAKING NEWS

आज का राशिफल (25 सितंबर 2022)◾Ankita Bhandari murder case : उत्तराखंड CM धामी ने अंकिता भंडारी के पिता से फोन पर की बात◾राकांपा प्रमुख शरद पवार ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से भेंट की◾बाल यौन उत्पीड़न सामग्री का प्रसार करने के खिलाफ सीबीआई की बड़ी कार्रवाई, देश में 56 जगहों पर छापे◾युक्रेन संघर्ष ने खाद्य पदार्थ और ऊर्जा संबंधी मुद्रास्फीति को बढ़ाया - जयशंकर◾त्रिपुरा में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही भाजपा◾CM केजरीवाल ने कहा- डेंगू नियंत्रण पर उठाएंगे कई कदम, स्कूली छात्र होंगे शामिल◾ महाराष्ट्र : शिंदे की पीएफआई कार्यकर्ताओं को दो टूक, कहा - बर्दाश्त नहीं किए जाएंगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे' ◾अमित शाह के वार पर RJD प्रमुख का पलटवार, बोले- भाजपा का होगा सफाया ◾ राजस्थान : कांग्रेस समर्थित निर्दलीय विधायक के बेटों को रिश्वत लेते हुए एसीबी ने किया गिरफ्तार ◾पीएफआई हिंसा पर विजयन का बड़ा बयान, कहा - पूर्व नियोजित थी हिंसा, दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा ◾दक्षिण में 2024 की तैयारी का जायजा लेने के लिए केरल के दो दिवसीय दौरे पर जाएंगे जेपी नड्डा ◾ 'आप' का राज्यपाल पर बड़ा आरोप, कहा - बीजेपी के इशारे पर कर रहे हैं काम◾Himachal Pradesh: कांग्रेस को झटका! आश्रय शर्मा बीजेपी में होंगे शामिल◾यूपी में मर्यादा तार -तार कक्षा तीन की छात्रो को प्रिंसिपल ने दिखाया अश्लील वीडीयो, मामला दर्ज◾हिजाब विवाद में फंसा ईरान, तेजी के साथ पूरे देश में फैल रही हैं प्रदर्शन की आग ◾Punjab News: होशियारपुर में गैस संयंत्र में धमाका, एक की मौत◾चीन में सैन्य तख्तापलट का मंडराया खतरा ! शी जिनपिंग नजरबंद, चीन में चर्चाओं ने पकड़ी गति◾Pune: पीएफआई कार्यकर्ताओं ने लगाए ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे, भाजपा ने की एक्शन लेने की मांग◾दिल्ली में बोले लालू-'नीतीश और मैं सोनिया से मिलेंगे, विपक्ष को एकजुट करने की करेंगे कोशिश'◾

उत्तर प्रदेश की 10 हजार बेटियों को दी जाएगी 'Self Defense' की ट्रेनिंग : यूपी सरकार

अपराध और अपराधियों से लगातार लड़ रही यूपी सरकार अब महिला सुरक्षा को लेकर ज्यादा संजीदा हो रही है। इसके लिए न सिर्फ सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया जा रहा है। बल्कि अब महिलाओं को आत्मरक्षा में निपुण बनाने का काम शुरू है। पहले चरण में राज्य की दस हजार बालिकाओं को आत्मरक्षा का गुर सीखा दिया जाएगा।

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम संकट की स्थिति में बेटियों के बचाव में सहायक होने के साथ ही उनके आत्मविश्वास को बढ़ाएगा। सात दिवसीय इस कार्यशाला मॉड्यूल को कौशल विकास परिषद के खेल और स्वास्थ्य क्षेत्र ने डिजाइन किया है, यह राज्य के 75 सभी जिलों में आयोजित किया जाएगा। प्रशिक्षण पूरा करने के बाद बेटियों को आत्मरक्षा किट प्रदान की जाएगी, जिसमें उनकी सुरक्षा से सम्बंधित सामान होंगे।

उत्तर प्रदेश स्किल डेवलपमेंट मिशन करेगा वहन 

प्रदेश की माताओं, बहनों और बेटियों की सुरक्षा प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। आत्मरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम के माध्यम से सरकार उन्हें सबल बनाएगी। सात दिवसीय इस कार्यशाला में काफी प्रभावी और व्यावहारिक बुनियादी आत्मरक्षा तकनीकों को शामिल किया जाएगा। ट्रेनिंग का खर्च उत्तर प्रदेश स्किल डेवलपमेंट मिशन (यूपीएसडीएम) वहन करेगा।

यूपी कौशल विकास मिशन के निदेशक आंद्रा वामसी ने कहा, अचानक से उत्पन्न हुई किसी भी आपात स्थिति को समझ पाना मुश्किल होता है। इस कार्यक्रम से जुड़ने वाली प्रशिक्षुओं को ऐसी स्थित से निपटने के तरीके सिखाए जाएंगे। साथ ही यह कार्यक्रम प्रदेश की लड़कियों को किसी भी कठिन परिस्थितियों का सामना करने की हिम्मत प्रदान करने के साथ ही उनके आत्मविश्वास को भी बढ़ाएगा।

राज्य के सभी थानों में महिला बीट की स्थापना

कार्यशाला का उद्देश्य प्रदेश की युवतियों को आपात और खतरनाक स्थितियों से निपटने के लिए एक सुरक्षा तंत्र से लैस करना है। इसके अलावा उन्हें सशक्त बनाते हुए समाज में महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों जैसे- यौन हमले, अपहरण, छेड़छाड़ आदि से बचने में सक्षम बनाना है।

योगी सरकार द्वारा 17 अक्टूबर 2020 से शुरू किए गए मिशन शक्ति अभियान के तहत प्रदेश की माताओं, बहनों और बेटियों की सुरक्षा के ²ष्टिगत सभी 1584 थानों में (जीआरपी सहित) महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई। इनके माध्यम से करीब 40000 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है। महिलाओं के विरुद्ध होने वाले अपराधों पर प्रभावी अंकुश लगे और उनमें सुरक्षा की भावना विकसित हो इसके लिए राज्य के सभी थानों में महिला बीट की स्थापना की गई है। 

10 वर्ष से ज्यादा की सजा दिलाने में सरकार को मिली सफलता 

इससे महिलाएं एवं बेटियां अपनी समस्या खुलकर बता पाती हैं। इस अभियान के जरिए अब तक 17 महीनों में 9319 अपराधियों को सजा मिल चुकी है। आंकड़ों को देखें तो औसतन 15 अपराधियों को प्रतिदिन सजा मिली है। महिलाओं के विरुद्ध गम्भीर अपराध एवं पॉक्सो अधिनियम के अपराधों में मिशन शक्ति एवं छ: माह का अभियान चलाकर 36 अभियुक्तों को मृत्यु दंड की सजा दिलाई गई है। 

साथ ही इस अभियान के तहत 1656 अभियुक्तों को आजीवन कारावास की सजा मिली है। वहीं 1913 अभियुक्तों को 10 वर्ष से ज्यादा की सजा दिलाने में सरकार को सफलता प्राप्त हुई है। इसके अलावा 5714 अभियुक्तों को 10 वर्ष से कम की सजा मिली है।