आगरा जिले के कुक्थाला गांव के खेत से दो अजगरों को पकड़ा गया, जिन्हें बाद में जंगल में छोड़ दिया गया। अधिकारियों ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी। पिछले सप्ताह यहां से दो और अजगरों को पकड़ा गया था। उत्तर प्रदेश वन विभाग और वन्यजीव एसओएस की एक टीम ने अजगरों को सुरक्षित बचा लिया। अजगर स्वस्थ हालात में पाए गए हैं।

 ग्रामीणों ने मौके पर एक आठ फीट लंबे और एक पांच फीट लंबे अजगर को देखने के बाद आगरा की वन्यजीव एसओएस त्वरित प्रतिक्रिया इकाई को संपर्क किया। यह गांव जंगली इलाके के बिल्कुल नजदीक है और यहां से अक्सर अजगरों को देखे जाने की रिपोर्ट आती रहती है। वन्यजीव एसओएस के सहसंस्थापक एवं सीईओ कार्तिक सत्यनारायण ने कहा, ‘हमारा काम लोगों को यह समझाना है कि सांपों के बारे में उनका डर बेकार हैं और इन प्राणियों की दुर्दशा के प्रति दया व दयालुता को बढ़ावा देना है।’

उन्होंने कहा, ‘इंडियन रॉक अजगर पूरे भारत भर में पाया जाता है और लोगों के बीच फैली गलतफहमी व अज्ञानता के कारण इन्हें गंभीर खतरा है।’ वन्यजीव एसओएस के निदेशक संरक्षण परियोजना बैजू राज एम.वी. ने कहा, ‘आठ फीट अजगर का वजन 14 किलोग्राम और पांच फीट वाले अजगर का वजन सात किलोग्राम था।’