BREAKING NEWS

केंद्र सरकार को कम से कम अब हमसे बात करनी चाहिए: शाहीन बाग प्रदर्शनकारी ◾केजरीवाल ने जल विभाग सत्येंन्द्र जैन को दिया, राय को मिला पर्यावरण विभाग ◾कश्मीर पर टिप्पणी करने वाली ब्रिटिश सांसद का भारत ने किया वीजा रद्द, दुबई लौटा दिया गया◾हर्षवर्धन ने वुहान से लाए गए भारतीयों से की मुलाकात, आईटीबीपी के शिविर से 200 लोगों को मिली छुट्टी ◾ जामिया प्रदर्शन: अदालत ने शरजील इमाम को एक दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾दिल्ली सरकार होली के बाद अपना बजट पेश करेगी : सिसोदिया ◾झारखंड विकास मोर्चा का भाजपा में विलय मरांडी का पुनः गृह प्रवेश : अमित शाह ◾दोषियों के खिलाफ नए डेथ वारंट पर निर्भया की मां ने कहा - उम्मीद है आदेश का पालन होगा ◾TOP 20 NEWS 17 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾सीएए के खिलाफ विरोध प्रदर्शन राजनीतिक दुर्भावना से प्रेरित : रविशंकर प्रसाद ◾शाहीन बाग पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा - प्रदर्शन करने का हक़ है पर दूसरों के लिए परेशानी पैदा करके नहीं ◾निर्भया मामले में कोर्ट ने जारी किया नया डेथ वारंट , 3 मार्च को दी जाएगी फांसी◾महिला सैन्य अधिकारियों पर कोर्ट का फैसला केंद्र सरकार को करारा जवाब : प्रियंका गांधी वाड्रा◾शाहीन बाग : प्रदर्शनकारियों से बात करने के लिए SC ने नियुक्त किए वार्ताकार◾सड़क पर उतरने वाले बयान पर कायम हैं सिंधिया, कही ये बात ◾गार्गी कॉलेज मामले में जांच की मांग वाली याचिका पर कोर्ट ने केन्द्र और CBI को जारी किया नोटिस◾SC ने दिल्ली HC के फैसले पर लगाई मोहर, सेना में महिला अधिकारियों को मिलेगा स्थाई कमीशन◾निर्भया मामले को लेकर आज कोर्ट में सुनवाई, जारी हो सकता है नया डेथ वारंट◾शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए निर्देशों की मांग करने वाली याचिकाओं पर SC में सुनवाई आज ◾केजरीवाल की तारीफ पर आपस में भिड़े कांग्रेस नेता देवरा - माकन, अलका लांबा ने भी कस दिया तंज ◾

अखिलेश ने कहा भाजपा कर रही है बदनाम, सरकार ने कहा 'खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे''

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने हाल में सरकारी बंगले में कथित तोड़फोड़ को लेकर चल रही खबरों को उन्हें बदनाम करने की सरकारी साजिश करार देते हुए आज कहा कि हाल के उपचुनावों में मिली हार और विपक्षी दलों के गठबंधन से परेशान भाजपा ने यह हरकत की है।

 

वहीं दूसरी ओर समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा अपने बंगले को लेकर लगाये गये आरोपों पर पलटवार करते हुये राज्य सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि सच्चाई सामने आने पर 'खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे’’ वाली कहावत चरितार्थ हो रही है। 

अखिलेश के आरोपों के बाद सरकार के प्रवक्ता और स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव को खुद आयकर​ विभाग को यह बताना चाहिए कि बंगले में लगाने के लिए पैसा उनके पास कहां से आया। इसके अलावा उन्होंने तंज कसते हुए कहा है कि ‘‘जिस दीवार को तोड़ा गया उसके पीछे क्या छिपाया गया था, इसकी जानकारी भी दें।’’ 

इससे पहले बंगले में तोड़फोड़ का मामला तूल पकड़ने के बाद सपा अध्यक्ष ने प्रेस कांफ्रेंस में सफाई दी और भाजपा पर जमकर बरसे। उन्होंने इस मामले में कार्रवाई के लिये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को कल पत्र लिखने वाले राज्यपाल राम नाईक पर भी संविधान के अनुरूप काम ना करने का आरोप लगाते हुए कहा कि ‘‘उनके अंदर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आत्मा है।’’ 

अखिलेश ने कहा कि इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा है कि हम अपने सरकारी बंगले को खाली करने के दौरान टोटियां खोल ले गये और फर्श का पत्थर तोड़ डाला। यह सरासर गलत और मुझे बदनाम करने के लिये ही किया गया है। इसमें कुछ अधिकारी भी शामिल हैं। 

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार मुझे बताये कि मैं कौन सी सरकारी चीज अपने साथ ले गया। मैंने जो चीजें अपने पैसे से लगवायी थीं, वह मैं ले गया। अगर मैं कोई सरकारी चीज ले गया हूं तो मैं उसे फौरन वापस करूंगा। 

अखिलेश ने कहा कि भाजपा यह इसलिये कर रही है क्योंकि वह गोरखपुर और फूलपुर की हार स्वीकार नहीं कर पा रही है। वह यह समझ ले कि इस अपमान के लिये जनता उसे सबक सिखाएगी। 

राज्य सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने अखिलेश की प्रेस कांफ्रेस के तुरंत बाद आनफानन में बुलायी गयी पत्रकार वार्ता में कहा कि ''अखिलेश कह रहे हैं कि उन्होंने बंगले में निर्माण कार्य अपने खुद के पैसे से करवाये हैं। अब आयकर विभाग को चाहिये कि वह इस मामले की जांच करे कि जो पैसे मकान में लगाये जाने की बात वह कर रहे हैं उसका कोई हिसाब किताब भी है या नहीं।'' 

सिंह ने कहा कि अखिलेश ने राज्यपाल के लिए जिन शब्दो का चयन किया है वह उन्हें शोभा नही देता, उसकी हम निंदा करते हैं। राज्यपाल संवैधानिक पद है। हम सभी को उनका सम्मान करना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि अखिलेश की आज की पत्रकार वार्ता ''खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे'' की बात की ओर इशारा करती है।